snn

जानें, विवादों में आए Taj Mahal से भारत सरकार को कितनी होती है सालाना कमाई…

Taj Mahal न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में अपनी खूबसूरत नक्काशी और शिल्प कौशल के लिए प्रसिद्ध है। नई दिल्ली, Taj Mahal अपनी खूबसूरत नक्काशी और शिल्प कौशल के लिए न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में है। गुंबद के आकार की इस इमारत को सिर ऊंचा करके देखना किसी आश्चर्य से कम नहीं है।

इसकी सुंदरता के कारण इसे दुनिया के सात अजूबों में स्थान दिया गया है। यह विशेष सफेद संगमरमर से बना है। ये पत्थर बगदाद, अफगानिस्तान, मिस्र और अन्य देशों के साथ-साथ राजस्थान से भी लाए गए थे।

ताजमहल मुगल बादशाह शाहजहां की तीसरी पत्नी ममताज महल का मकबरा है। मुमताज की मृत्यु के बाद शाहजहाँ ने उनकी याद में Taj Mahal का निर्माण करवाया था। कहा जाता है कि मुमताज ने अपने जीवन के अंतिम दिनों में मकबरा बनाने की इच्छा जाहिर की थी, जिसके बाद शाहजहां ने ताजमहल का निर्माण कराया था।

इसके चारों कोनों पर चार मीनारें हैं। शाहजहाँ ने इस शानदार इमारत के निर्माण के लिए बगदाद और तुर्की के कारीगरों को बुलाया। ऐसा माना जाता है कि Taj Mahal के निर्माण के लिए बगदाद के एक शिल्पकार को बुलाया गया था, जो पत्थर पर घुमावदार अक्षरों को तराश सकता था।

बुखारा शहर के एक शिल्पकार को भी बुलाया गया, जो संगमरमर में फूल तराशने में कुशल था। उसी समय, तुर्की के इस्तांबुल में रहने वाले कुशल कारीगरों को गुंबद बनाने के लिए बुलाया गया, और इसी तरह विभिन्न स्थानों के शिल्पकारों ने ताजमहल का निर्माण किया।

1632 में शुरू हुए ताजमहल के निर्माण में लगभग 22 साल लगे। इसके निर्माण में लगभग 20,000 श्रमिकों ने योगदान दिया है। जमुना नदी के तट पर सफेद पत्थर से बनी चमत्कारी सुंदरता की तस्वीर ‘ताजमहल’ ने भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में अपनी पहचान बना ली है। प्यार की इस निशानी को देखने के लिए यहां दूर-दूर से हजारों की संख्या में सैलानी आते हैं।

आइए जानें कि Taj Mahal से भारत सरकार को सालाना कितना फायदा होता है।

अमृतसर के गुरुनानक अस्पताल में आग से अफरातफरी, 600 मरीजों को बाहर निकाला

वित्तीय वर्ष 2016-17 में राजस्व आय 49 करोड़ 6 लाख 69 हजार 640 टका रही है। 2017-18 में आमदनी 56 करोड़ 83 लाख 6 हजार 551 रुपए थी। सरकार को 2018-19 में 81 करोड़ 95 लाख 46 हजार 355 टका का राजस्व प्राप्त हुआ है। 2019-20 में राजस्व 1 अरब 6 करोड़ 82 लाख 88 हजार 915 रुपये प्राप्त हुआ। 2020-21 कोरोना महामारी के कारण आय बहुत कम थी। 2021-22 में इस बात के संकेत हैं कि ताजमहल से राजस्व वापस पटरी पर आ गया है। 2021 में 13 लाख यानी करीब 12 लाख घरेलू पर्यटक देखे गए।

Coca-Cola : कभी मिलता था फ्री में , आज है 38.66 बिलियन डॉलर का ब्रांड , यह है Coca-cola की शुरूआती कहानी

वहीं जब ताजमहल देखने की बात आती है तो दुनिया भर से लोग Taj Mahal देखने आते हैं। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा से लेकर डोनाल्ड ट्रंप तक की हस्तियों ने ताज को निगल लिया है। पिछले साल डेनमार्क के प्रधानमंत्री एम फ्रेडरिकसन भी अपने पति के साथ ताज देखने गए थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button