भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से नहीं विकासवाद से चल रही है यूपी में सरकार: नरेन्द्र मोदी

वाराणसी के विकास कार्य चिर पुरातन काशी की नूतन अभिव्यक्ति : मोदी - वाराणसी को 1475 करोड़ रुपये से ज्यादा की विकास योजनाओं की सौगात, कोरोना काल में काशी ने दिखा दिया कि वो रुकती नहीं : नरेन्द्र मोदी , 'नई काशी' आज 'स्मार्ट काशी' के रूप में देश व दुनिया के लिए मॉडल बनी : योगी

वाराणसी, 15 जुलाई । कोरोना संकट काल में लगभग 08 माह बाद अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गुरूवार को आये प्रधानमंत्री ने नागरिकों को 1475 करोड़ की परियोजनाओं का सौगात दिया। इसमें जापान और भारत की मित्रता के प्रतीक अंतरराष्ट्रीय रूद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर भी शामिल है। परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास बटन दबा कर करने के बाद प्रधानमंत्री ने कोरोना काल में वाराणसी और उत्तर प्रदेश की भूमिका को जमकर सराहा। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के बीच भी काशी ने दिखा दिया कि वो रुकती नहीं है। काशी थकती नहीं है। कोरोना की दूसरी लहर ने पूरी ताकत के साथ हमला किया। लेकिन वाराणसी और उत्तर प्रदेश ने इसका मुकाबला किया।

प्रधानमंत्री बीएचयू आईआईटी टेक्नो ग्राउन्ड में आयोजित जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की आबादी दुनिया के कई बड़े देशों से भी ज्यादा है। उस यूपी ने कोरोना की दूसरी लहर को बेहतर तरीके से संभाला है। प्रधानमंत्री ने पूर्व के दिनों का उल्लेख कर कहा कि लोगों ने वो दौर भी देखा है। जब दिमागी बुखार का सामना करने में मुश्किल आती थीं। पहले के दौर में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी और इच्छा शक्ति के अभाव में छोटे संकट भी बड़े लगते थे। लेकिन आज स्थिति बदल गई है। यूपी में हालत संंभलने लगा है। यूपी में सबसे अधिक टेस्टिंग हो रही है। यूपी पूरे देश में सबसे अधिक वैक्सीनेशन का राज्य है। सबको मुफ्त वैक्सीन मिल रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि गरीब, किसान, नौजवान को फ्री वैक्सीन लगाई जा रही है। मेडिकल कालेज चार गुना हो चुका है। संंसाधनों में तेजी से इजाफा हो रहा है। बनारस में ही चौदह आक्सीजन प्लांट का लोकार्पण हुआ है। बच्चों के लिए विशेष आक्सीजन और आइसी विकसित करने का बीड़ा यूपी सरकार ने उठाया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि काशी नगरी आज पूर्वांचल का बहुत बड़ा मेडिकल हब बन रही है। जिन बीमारियों के इलाज के लिए कभी दिल्ली और मुंबई जाना पड़ता था, उनका इलाज आज काशी में भी उपलब्ध है।

प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री के नेतृत्व और मेहनत का किया उल्लेख

प्रधानमंत्री ने आज लोकार्पित होने वाली योजनाओं के फायदे को विस्तार से गिना कर कहा कि आज मेक इन इंडिया के लिए यूपी पसंदीदा जगह बन गई है। प्रदेश देश के अग्रणी इन्वेस्टमेंट डेस्टिनेशन के रूप में उभर रहा है। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व और मेहनत का उल्लेख कर कहा कि यूपी में सरकार आज भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से नहीं विकासवाद से चल रही है। इसीलिए, आज यूपी में जनता की योजनाओं का लाभ सीधा जनता को मिल रहा है। नए-नए उद्योगों का निवेश हो रहा है, रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं।

मेक इन इंडिया के लिए यूपी पसंदीदा जगह

प्रधानमंत्री ने पिछली सरकारों को निशाने पर लेकर कहा कि कुछ साल पहले तक जिस यूपी में व्यापार-कारोबार करना मुश्किल माना जाता था, आज मेक इन इंडिया के लिए यूपी पसंदीदा जगह बन रहा है। उन्होंने कहा कि 2017 से पहले यूपी के लिए योजनाएं नहीं आती थीं, पैसा नहीं भेजा जाता था,ऐसा नही था। तब भी दिल्ली से इतने ही तेज प्रयास होते थे। लेकिन तब लखनऊ में उनमें रोड़ा लग जाता था। माफियाराज और आतंकवाद पर अब कानून का शिकंजा है। बहनों-बेटियों की सुरक्षा को लेकर मां-बाप हमेशा जिस तरह डर और आशंकाओं में जीते थे, वो स्थिति बदल चुकी है।

इंफ्रास्ट्रचर के कारण प्रदेश में अब लोगों को मिल रही सुविधा

प्रधानमंत्री ने कहा कि इंफ्रांस्ट्रचर के कारण प्रदेश में अब लोगों को सुविधा हो रही है। यूपी के कोने-कोने को एक्सप्रेस-वे से जोड़ने का काम हो रहा है। डिफेंस कारिडोर हो या अन्य एक्सप्रेस-वे, इस दशक में यूपी के विकास को नई बुलंदी देने वाले हैं। इन पर केवल गाड़ियां ही नहीं चलेंगी, बल्कि यहां आत्मनिर्भर भारत को बल देने वाले औद्योगिक क्षेत्र बनेंगे। प्रधानमंत्री ने बताया कि आत्मनिर्भर भारत में कृषि से जुड़े उद्योगों की बड़ी भूमिका होने वाली है। कृषि को लेकर एक लाख करोड़ का विशेष फंड बनाया गया है, उसका लाभ देश के किसानों को मिलेगा। देश की मंडियों को आधुनिक बनाने और कृषि मंडियों को बढ़ाना सरकार की प्राथमिकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि यूपी में लगातार काम हो रहा है।

प्रधानमंत्री ने पूर्वांचल के विकास का भी किया जिक्र

प्रधानमंत्री ने वाराणसी के साथ पूर्वांचल के विकास का जिक्र कर कहा कि इस समय भी इस क्षेत्र में लगभग 8,000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं पर काम चल रहा है। नए प्रोजेक्ट, नए संस्थान, काशी की विकास गाथा को और जीवंत बना रहे हैं। मां गंगा की स्वच्छता और सुंदरता के लिए सड़क, सीवेज ट्रीटमेंट, घाटों का सुंदरीकरण पर काम हो रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि काशी की मां गंगा की स्वच्छता और शुद्धता हमारी प्राथमिकता है। पंचक्रोसी मार्ग का चौड़ीकरण होने से सभी को सुविधा हागी। गोदौलिया में मल्टीलेवल पार्किंग बनने से काशी के लोगों को लाभ मिलेगा। लहरतारा से चौकाघाट फ्लाईओवर के नीचे भी पार्किंग से लेकर अन्य सुविधाओं का काम जल्द पूरा हो जाएगा। बनारस को शुद्ध जल के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। हर घर जल पर तेजी से काम हो रहा है।

प्रधानमंत्री ने संगीतकारों कलाकारों को भी किया याद

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि काशी से विश्वस्तरीय साहित्यकार, संगीतकार और अन्य कलाकारों ने दुनिया में धूम मचाई है। इसके लिए एक आधुनिक मंच आज दिया जा रहा है। यहां वे अपनी कला का प्रदर्शन कर सकेंगे। ऐसे में काशी के विज्ञान के केंद्र के रूप में विकास जरूरी है। प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद जो प्रयास हो रहे थे, उनमें और तेजी आई है। आज भी मॉडल स्कूल, पॉलिटेक्निक और आईटीआई जैसी सुविधाएं काशी को मिली हैं। ऐसे संस्थान आत्मनिर्भर भारत को और मजबूत करेंगे। इसमें काशी की भूमिका को मजबूत करेंगे।

हर-हर महादेव के उद्घोष और शंखध्वनि से हुआ स्वागत

इसके पहले सभा स्थल पर पहुंचते ही प्रधानमंत्री का स्वागत नागरिकों ने परम्परागत हर-हर महादेव के उद्घोष और शंखध्वनि के बीच किया। मंच पर प्रधानमंत्री का स्वागत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। इस दौरान राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और राज्य सरकार के मंत्री भी मौजूद रहे। सभा में आज लोकार्पित होने वाली परियोजनाओं की वीडियो क्लिप भी दिखाई गई। प्रधानमंत्री ने सम्बोधन की शुरुआत भारत माता की जय, हर-हर महादेव के उद्घोष से की और भोजपुरी में लोगों का अभिवादन भी किया।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button