Gas Cylinder पर सब्सिडी खत्म करने की कगार पर सरकार, केवल एक साल में बचाए अरबों रुपये

सरकार Gas Cylinder पर मिलने वाली सब्सिडी को पूरी तरह खत्म करने के अपने लक्ष्य के करीब पहुंच गई है। लोकसभा में केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, LPG Cylinder पर सरकार का सब्सिडी खर्च 2011 में 11,896 करोड़ रुपये से घटकर वित्त वर्ष 2022 में सिर्फ 242 करोड़ रुपये रह गया है।

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने गुरुवार को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि देश में पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में संबंधित उत्पादों की कीमत से जुड़ी हुई है, हालांकि सरकार इसे नियंत्रित करने की कोशिश कर रही है।

घरेलू गैस उपभोक्ताओं के लिए कीमतें उन्होंने कहा कि एलपीजी सब्सिडी के संबंध में सरकार ने वित्त वर्ष 2018 में 23,464 करोड़ रुपये, वित्त वर्ष 2019 में 37,209 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2020 में 24,172 करोड़ रुपये खर्च किए।

लगातार कम हो रहा सब्सिडी को बोझ
photo by google

लगातार कम हो रहा सब्सिडी बोझ

वित्त वर्ष 2022 में सब्सिडी में तेज गिरावट लाभार्थियों की संख्या में कमी और Gas Cylinder के खुदरा मूल्य में वृद्धि को दर्शाती है। चूंकि सरकार ने जून 2020 में फैसला किया था कि सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर केवल प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) के लाभार्थियों के लिए उपलब्ध होंगे, सब्सिडी वाले लाभार्थियों की संख्या में भारी कमी आई है।

सरकार ने पीएमयूवाई लाभार्थियों के लिए एक वर्ष में 12 रिफिल तक के लिए 200 रुपये प्रति Gylinder की लक्षित सब्सिडी की शुरुआत की है। सिलेंडर सब्सिडी लाभार्थी के बैंक खाते में जमा की जाती है।

लगातार कम हो रहा सब्सिडी को बोझ
photo by google

बढ़ रही हैं रसोई गैस

हम आपको बता दें कि घरेलू रसोई Gas Cylinder की कीमतों में भी हाल के दिनों में लगातार बढ़ोतरी हुई है। इस महीने की शुरुआत में, तेल कंपनियों ने चार महानगरों में घरेलू Cylinder की कीमतों में 50 रुपये की बढ़ोतरी की थी। दिल्ली में इन दिनों एक सिलेंडर की कीमत 1,053 रुपये है।

इसे भी पढ़े-India का ऐसा राज्य जहां बिना दुकानदारों के चलती हैं दुकानें, नहीं होती चोरी की एक भी वारदात

आंकड़ों से पता चला है कि एलपीजी सिलेंडर की कीमतें अप्रैल 2019 में 706.50 रुपये प्रति सिलेंडर से घटाकर 1 मई 2020 को 581.5 रुपये प्रति सिलेंडर कर दी गई थीं। लेकिन उसके बाद से अप्रैल 2021 में की गई 10 रुपये की कटौती को छोड़कर सिलेंडर की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हुई है।

– Article By Sunil

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button