जानिए कौन हैं Arpita Mukherjee, जिनके घर से बरामद हुआ करोड़ों का कैश

Arpita Mukherjee का नाम हाल ही में चर्चा में है। Arpita Mukherjee  के घर ईडी का छापा पड़ा तो काफी नकदी बरामद हुई है। कहा जाता है कि अर्पिता ममता सरकार के उद्योग और वाणिज्य मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी हैं. मंत्री पार्थ चटर्जी को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। ईडी पिछले शुक्रवार से पार्थ के घर पर छापेमारी कर रहा था.

बाद में आज ईडी ने पर्थ के पास अर्पिता मुखर्जी के घर पर भी छापेमारी की और नकदी बरामद की. ऐसे में अब हर कोई जानना चाहता है कि Arpita Mukherjee और उनके मंत्री पार्थ चटर्जी से उनका क्या रिश्ता है.

बीजेपी नेता सुबवेंदु अधिकारी ने दुर्गा पूजा 2019 की एक तस्वीर साझा की`
Photo By Google

Arpita Mukherjee कौन हैं?

Arpita Mukherjee ओडिशा और बंगाली फिल्म उद्योग में एक अभिनेत्री और मॉडल हैं। जिन्होंने कुछ फिल्मों में सहायक भूमिकाओं में अभिनय किया है। अभिनेत्री ने सुपरस्टार प्रोसेनजीत की कई फिल्मों में सहायक भूमिकाओं में भी काम किया है। अर्पिता बंगाल के अलावा ओडिशा इंडस्ट्री में भी नजर आ चुकी हैं। उन्हें कई फिल्मों के साथ-साथ विज्ञापनों में भी देखा गया था।

अभिनेत्री ममता सरकार के बेहद करीबी और भरोसेमंद मंत्री पार्थ चटर्जी की काफी करीब हैं। रिपोर्ट्स की मानें तो अर्पिता को पार्थ के साथ कई बार राजनीतिक कार्यक्रमों में देखा जा चुका है। दोनों की साथ में कई तस्वीरें भी सामने आई हैं.

शिक्षा भर्ती घोटाले में भी आया था ऐक्ट्रेस का नाम

पार्थ चटर्जी ममता की सरकार में शिक्षा मंत्री भी बने। उस समय शिक्षक भर्ती कांड भी सामने आया था। ईडी ने कहा कि शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच में अर्पिता मुखर्जी का भी नाम आया। अब उसके घर से करोड़ों रुपये बरामद किए गए हैं।

जानिए कौन हैं Arpita Mukherjee, जिनके घर से बरामद हुआ करोड़ों का कैश
Photo By Google

बीजेपी-टीएमसी आमने-सामने 

ईडी की छापेमारी के बाद जहां बीजेपी नेता सुबवेंदु अधिकारी ने दुर्गा पूजा 2019 की एक तस्वीर साझा की, जिसमें सीएम ममता बनर्जी, पार्थ चटर्जी और उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी को दिखाया गया.

बीजेपी नेता सुबवेंदु अधिकारी ने दुर्गा पूजा 2019 की एक तस्वीर साझा की
Photo By Google

इसे भी पढ़े-Alia Bhatt दे सकती है दो बच्चों के एक साथ जन्म, पति रणबीर भी बोले चाहिए मुझे जुड़वा बच्चे सामने आई बड़ी खबर

और उन पर तंज कसा. उन्होंने लिखा- ”अभी तो ट्रेलर है, तस्वीर अभी बाकी है.” दूसरी ओर, टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता कुणाल घोष ने स्पष्ट किया कि बरामद धन का पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने ट्वीट किया, “इस मामले में जिन लोगों का नाम है वे जिम्मेदार हैं। हम समय आने पर बयान जारी करेंगे।”

Ariticle By Sipha

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button