Electricity Meter में क्यों होती है 3 लाइटें, जानिए इनका मतलब

सरकारें अब प्रीपेड मीटर भी लगा रही हैं ताकि बिजली बिलों में किसी भी तरह की हेराफेरी से बचा जा सके और साथ ही लोग अपने बिजली बिलों का समय पर भुगतान कर सकें। बिजली मीटर(Electricity Meter) को लेकर तरह-तरह की दिक्कतें आ रही हैं। बिजली मीटर कब काम कर रहा है, यह जानना बहुत मुश्किल है, लेकिन इसके कुछ संकेतक हैं, जिन्हें जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

Photo By Google

वहीं, बिजली मीटर(Electricity Meter) पर लगी दाहिनी एलईडी मीटर कैलिब्रेशन को दिखाती है। इसका मतलब है कि अगर आपका बिजली मीटर(Electricity Meter) प्रीपेड है और उसके बाईं ओर की लाइट लाल है, तो आपके घर की लाइट कभी भी बंद हो सकती है। तो उसका ख्याल रखना।

Photo By Google

प्रीपेड मीटर क्या है?

प्रीपेड मीटर प्रीपेड मोबाइल की तरह ही काम करते हैं। जिस तरह प्रीपेड मोबाइल कॉल फोन से रिचार्ज करने के बाद ही की जा सकती है, उसी तरह प्रीपेड मीटर भी होते हैं, इस मीटर में भी एक नंबर होता है, जिसे रिचार्ज करने की जरूरत होती है। मीटर का बैलेंस जीरो होते ही उन्होंने लाइट काट दी। प्रीपेड मीटर के फ्रंट में टॉप पर कंपनी का नाम, उसके नीचे LCD डिस्प्ले और डिस्प्ले के नीचे 3 LED लाइट्स हैं। कीपैड के नीचे सीरियल नंबर और एलईडी लाइट के बराबर है।

Photo By Google

 इसे भी पढ़े-Gautam Adani: दुनिया के तीसरे सबसे अमीर अरबपति और उनकी 10 सबसे महंगी प्रॉपर्टी

बिजली मीटर(Electricity Meter) के बाईं ओर एलईडी क्रेडिट की स्थिति दिखाता है। यह एलईडी लाल हो जाती है जब मीटर में क्रेडिट सीमा से कम क्रेडिट होता है। वहीं, क्रेडिट लिमिट से ज्यादा क्रेडिट होने पर यह एलईडी ग्रीन हो जाती है। मीटर की बाय-डिफॉल्ट क्रेडिट सीमा 100 रुपये है वहीं, बीच वाली एलईडी मीटर में छेड़छाड़ दिखाती है।

Article By Sunil

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button