जरूरी खबर, अब Aadhaar card का हुआ गलत इस्तेमाल तो लगेगा 1 करोड़ का जुर्माना, जानें नए नियम

Aadhaar card हर व्यक्ति के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज माना जाता है। नाबालिग से लेकर बड़े तक आधार कार्ड अनिवार्य है। इसका इस्तेमाल आप लगभग हर जरूरी काम के लिए कर सकते हैं। आप आधार से सरकारी योजना का लाभ उठा सकते हैं। Aadhaar card में आपका नाम, जन्म तिथि, पता और आधार नंबर जैसी जानकारी होती है।

आपका बायोमेट्रिक डेटा भी Aadhaar card पर उपलब्ध है।  वहीं दूसरी तरफ देश में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जहां Aadhaar card का गलत इस्तेमाल किया गया है. हालांकि, भारी जुर्माने के अलावा, आधार नियमों के उल्लंघन के लिए जेल की सजा भी है।

जरूरी खबर, अब Aadhaar card का हुआ गलत इस्तेमाल तो लगेगा 1 करोड़ का जुर्माना, जानें नए नियम
Photo By Google

यह है खास नियम

केंद्र सरकार ने 2 नवंबर, 2021 को यूआईडीएआई (जुर्माने का अधिनिर्णय) नियम, 2021 की अधिसूचना प्रकाशित की। UIDAI के नियम बनाने वाला अधिनियम 2019 में पारित किया गया था।

Aadhaar card नियम

केंद्र सरकार ने 2 नवंबर, 2021 को यूआईडीएआई (जुर्माने का अधिनिर्णय) नियम, 2021 की अधिसूचना प्रकाशित की। UIDAI के नियम बनाने वाला अधिनियम 2019 में पारित किया गया था। इसके तहत, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई), जो आधार संख्या जारी करता है, को जेल या जुर्माना लगाया जा सकता है

जरूरी खबर, अब Aadhaar card का हुआ गलत इस्तेमाल तो लगेगा 1 करोड़ का जुर्माना, जानें नए नियम
photo by google

यदि कोई अनऑथराइज्ड एक्सेस या उसके निर्देशों या नियमों का उल्लंघन करता है तो दोषी को जेल या उस पर जुर्माना लग सकता है। अगर कोई संस्था इस तरह की घटना में दोषी पाई जाती है तो उस पर एक करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा।

3 साल की होगी सजा

UIDAI फर्जी आबादी या बायोमेट्रिक जानकारी का दुरुपयोग या उसकी नकली कॉपी बनाने पर 10,000 रुपये का जुर्माना और 3 साल की कैद होगी। इससे पहले, आधार अधिनियम में आधार पारिस्थितिकी तंत्र में गलत संस्थाओं के खिलाफ यूआईडीएआई के लिए प्रवर्तन कार्रवाई का प्रावधान नहीं था।

जरूरी खबर, अब Aadhaar card का हुआ गलत इस्तेमाल तो लगेगा 1 करोड़ का जुर्माना, जानें नए नियम
Photo By Google

 इसे भी पढ़े-अपनी मूंछ पर ताव देती है यह महिला, लोग उड़ाते हैं मजाक लेकिन इसलिए नहीं कटवातीं

गलत संस्थाओं के खिलाफ प्रभावी उपायों के लिए अब आधार पारिस्थितिकी तंत्र में एक नया अध्याय जोड़ा गया है। इन प्रावधानों में कहा गया है, “यदि इस अधिनियम, नियमों, विनियमों और निर्देशों [धारा 33ए] के प्रावधानों का पालन करने में चूक होती है, तो 1 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

Article By Sipha

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button