कर्मचारी 4 दिन करें काम 3 दिन छुट्टी संसद में पहुंचा प्रस्ताव

नई दिल्ली 23 नवंबर । अगर आपको सप्ताह में सिर्फ 4 दिन काम करना पड़े और 3 दिन का अवकाश मिल जाए तो कैसा रहेगा जी हां कुछ ऐसा ही प्रस्ताव भारत सरकार के श्रम मंत्रालय ने संसद में रखा है प्रस्ताव में बताया गया कि कर्मचारियों को सप्ताह में सिर्फ 4 दिन काम करवाया जाए और 3 दिन का अवकाश दिया जाए ताकि वह परिवारिक जिम्मेदारियों के बाद अपने शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए समय निकाल सकें हालांकि ऐसे कर्मचारियों को प्रतिदिन 12 घंटे काम करना होगा मौजूदा कानूनों के अनुसार किसी भी श्रमिक या कर्मचारी से 24 घंटे में अधिकतम 10.5 घंटे ही काम लिया जा सकता है

भारत सरकार के श्रम मंत्रालय ने संसद में एक प्रस्ताव दिया है जिसके तहत काम करने की अधिकतम घंटों को 12 घंटे करने पर विचार करने के लिए कहा गया है हालांकि हफ्ते में काम करने की अधिकतम समय सीमा 48 घंटे ही रहेगी वह नहीं बढ़ेगी यानी अगर कोई कर्मचारी रोज 12 घंटे काम करता है तो वह हफ्ते में सिर्फ 4 दिन ही काम करेगा और 3 दिन छुट्टी रहेगी या उसने इसका ओवरटाइम मिलेगा

MP के मंदिर परिसर में चुम्बन दृश्य को लेकर गृहमंत्री हुए सख्त अधिकारियों को दिया ये निर्देश

अगर दुनिया भर की बात हो रही है तो इंटरनेशनल लेबर ऑर्गेनाइजेशन यानी आई एल ओ के स्टैंडर्ड के तहत इंडस्ट्रियल वर्कर से रोजाना 8 घंटे और हफ्ते में 48 घंटे काम लिया जा सकता है जिन कामों में शिफ्ट के बाद दूसरी शिफ्ट चलानी होती है उन्हें हफ्ते में 56 घंटे तक काम लेने की इजाजत मिली हुई है वही किसी कर्मचारी से तीन हफ्तों में रोजाना औसतन 8 घंटे काम करने की इजाजत ही है

कांग्रेस में जारी है कलह, बाबाओं के प्रेम पर विधायक ने उठाए सवाल

श्रम मंत्रालय ने कहा है कि भारत की विषम जलवायु परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए पूरे दिन के काम का बंटवारा हुआ है इससे श्रमिकों को ओवरटाइम भत्ता के माध्यम से अधिक कमाई करने की सुविधा मिलेगी अधिकारियों ने कहा हमने मसौदा नियमों में आवश्यक प्रावधान किए हैं ताकि 8 घंटे से अधिक काम करने वाले श्रमिक को ओवरटाइम मिल सके ओ एस एच संहिता के मसौदे के अनुसार किसी भी दिन ओवरटाइम की गणना में 15 से 30 मिनट के समय के बाद 30 मिनट गिना जाएगा मौजूदा व्यवस्था के तहत 30 मिनट से अधिक कम समय की गिनती ओवरटाइम के रूप में नहीं की जाती है

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button