जिला चिकित्सालय के मेटरनिटी वार्ड में मनाया गया विश्व जनसंख्या दिवस

सिवनी, 11 जुलाई।जनसंख्या वृद्धि को नियंत्रित करने एवं जनसंख्या के बढ़ते दुष्परिणामों से आम जन को अवगत कराने के लिए प्रतिवर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस के रूप मे मनाया जाता है। इस वर्ष परिवार नियोजन में पुरूषों की सहभागिता सुनिश्चित करने पर जोर दिया गया है। इस हेतु परिवार कल्याण कार्यक्रम अंतर्गत विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई के अवसर पर जिला चिकित्सालय सिवनी के मेटरनिटी के पीएनसी वार्ड में कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें विश्व जनसंख्या दिवस के उद्देश्य के बारे में समझाइश दी गई। उक्ताशय की जानकारी रविवार की दोपहर को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश श्रीवास्तव ने दी।

डॉ. श्रीवास्तव ने बताया कि कार्यक्रम में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एम.एस.घर्डे, ने बढ़ती हुई जनसंख्या को स्थिर करने के बारे में स्थाई,अस्थाई साधनों की विस्तृत जानकारी दी तथा उपस्थित लोगों को परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने के लिए प्रेरित किया। साथ ही उपस्थित महिलाओं को अस्पताल से छुटटी लेने से पहले परिवार नियोजन के अपने पसंद का साधन अपनाने के लिए सलाह दी स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. राजेश्वरी कुशराम ने उपस्थित महिलाओं को महिला नसबंदी के प्रकार जैसे-मिनिलेप, लैप्रोस्कोपिक एवं पुरूष नसबंदी में एनएसव्ही स्थाई साधनों में पीपीआईयूसीडी, इंजेक्शन अंतरा, छाया तथा ओरल पिल्स के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।

यह भी पढ़ें –  उज्जैन को बनाएंगे उद्योग और विज्ञान की नगरी : सीएम शिवराज

उप जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी श्रीमति शांति डहरवाल ने बताया कि 11 जुलाई विश्व जनसंख्या का मुख्य उद्देश्य लोगों को बढ़ती जनसंख्या के दुष्परिणामों से अवगत कराना है। आज की परिस्थिति में आवश्यक है कि हम विकराल रूप ले चुकी जनसंख्या वृद्धि को नियंत्रित करने हेतु आवश्यक कदम उठायें। इसके लिए शासन द्वारा अनेक प्रकार के कार्यक्रमों एवं योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। जनसंख्या को स्थिर करने के लिए 4 महत्वपूर्ण कारक है। 18 वर्ष से क्रम उम्र में विवाह न करें, विवाह पश्चात 2 वर्ष तक संतान न हो जिससे मां और बच्चा दोनों स्वस्थ्य रहें, 2 बच्चों के बीच कम से कम 3 से 5 साल का अंतर हो तथा 2 बच्चों के बाद परिवार नियोजन की स्थाई विधि अपनाकर परिवार को सीमित रखें।

कार्यक्रम में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एम.एस.घर्डे, स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. राजेश्वरी कुशराम, उप जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी शांति डहरवाल, मेटरनिटी इंचार्ज सिस्टर सी. खान एवं मेटरनिटी वार्ड के समस्त स्टॉफ की उपस्थिति रही।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button