अब निजी वाहनों को नहीं देना होगा Toll Tax, मध्यप्रदेश सरकार का बड़ा फैसला

अगर आपकी कार मध्य प्रदेश में Toll Plaza पर लंबी कतारों में फंस जाता है तो छुट्टी का दिन है. लंबे ट्रैफिक जाम को हटाने में बहुत कम समय लगता है और लोगों का समय बर्बाद होता है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।लंबी कतारों को दूर करने के लिए राज्य सरकार ने निजी कार मालिकों के लिए एक नए नियम की घोषणा की है। हम आपको बता दें कि Toll Tax से लेकर मैनुअल तक के प्रावधान से न सिर्फ समस्या से निजात मिलेगी और निजी कार मालिकों के चेहरे भी खिल उठेंगे।

क्या होगा? नियम?

कहा गया है कि अब कार मालिकों से Toll Tax नहीं वसूला जाएगा। मौजूदा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सरकार द्वारा लिए गए इस फैसले से निजी कार मालिकों को काफी राहत मिलेगी.

अब निजी वाहनों को नहीं देना होगा Toll Tax, मध्यप्रदेश सरकार का बड़ा फैसला
Photo By Google

कौन सी सड़कें शामिल हैं?

राज्य सड़क विकास निगम के अंतर्गत आने वाली सभी नई और पुरानी सड़कों को इस नियम के तहत रखा जाएगा. यानी अब निजी वाहन मालिकों को इन सड़कों पर Toll Tax नहीं देना होगा. राज्य परिवहन प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई ने पुष्टि की कि प्रस्तावित नए नियमों को अंतिम मंजूरी के लिए कैबिनेट को भेजा गया है।

अब निजी वाहनों को नहीं देना होगा Toll Tax, मध्यप्रदेश सरकार का बड़ा फैसला
Photo By Google

Toll Tax नहीं देने पर निजी कार मालिकों को कैसे होगा फायदा?
बता दें कि सरकार ने सर्वे के आधार पर यह फैसला लिया है। निर्माण विभाग द्वारा प्रदेश की करीब 200 सड़कों का सर्वे किया जा चुका है। सर्वे के मुताबिक 80 फीसदी Toll Tax कमर्शियल वाहनों से और बाकी 20 फीसदी निजी वाहनों से वसूला जाता है.

अब निजी वाहनों को नहीं देना होगा Toll Tax, मध्यप्रदेश सरकार का बड़ा फैसला
Photo By Google

 इसे भी पढ़े-मध्‍य प्रदेश के इस खास शहर के ल‍िए रेलवे चलाएगा weekly special train, 31 को रेलमंत्री द‍िखाएंगे हरी झंडी

बड़ी संख्या में निजी वाहन जाम की स्थिति पैदा करते हैं। इसलिए अब उनसे टोल टैक्स नहीं वसूला जाएगा। मध्य प्रदेश में अब से सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही टोल टैक्स देना होगा। इसके अलावा यह जान लें कि जीपीएस आधारित टोल कलेक्शन सिस्टम पर भी काम किया जा रहा है।

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button