snn

Parshuram Jayanti पर मुख्यमंत्री शिवराज ने लगाई घोषणाओं की झड़ी, जानिए क्या-क्या हुईं घोषणाएं और किसने रखीं मांगें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भगवान Parshuram Jayanti के अवसर पर भोपाल के गुफा मंदिर में एक समारोह में घोषणा की कि भगवान परशुराम के कार्यों को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा। इसे लेकर चौहान कई घोषणाएं कर चुके हैं।

उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित आभाधेशानंद गिरि महाराज के साथ भगवान परशुराम की 21 फीट ऊंची मूर्ति का भी अनावरण किया। इस मौके पर पूर्व महापौर एवं कार्यक्रम आयोजक आलोक शर्मा ने मुख्यमंत्री से ब्राह्मणों, पुजारियों व संस्कृत पढ़ने वाले बच्चों को लेकर मांग की.

जूना पीठाधीश्वर आचार्य आभाधेशानंद गिरि और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के गुफा मंदिर में भगवान परशुराम की प्रतिमा का अनावरण किया।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भगवान Parshuram Jayanti के अवसर पर भोपाल के गुफा मंदिर में एक समारोह में घोषणा की कि भगवान परशुराम के कार्यों को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा।

Parshuram Jayanti : इसे लेकर चौहान कई घोषणाएं कर चुके हैं। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित आभाधेशानंद गिरि महाराज के साथ भगवान परशुराम की 21 फीट ऊंची मूर्ति का भी अनावरण किया। इस मौके पर पूर्व महापौर एवं कार्यक्रम आयोजक आलोक शर्मा ने मुख्यमंत्री से ब्राह्मणों, पुजारियों व संस्कृत पढ़ने वाले बच्चों को लेकर मांग की.

संस्कृत पढ़ने वाले बच्चों को मिलेगी छात्रवृत्ति

इस अवसर पर मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अन्य स्कूली छात्रों की तरह सरकार भी संस्कृत पढ़ने वाले ब्राह्मण छात्रों के लिए छात्रवृत्ति शुरू करेगी. उन्होंने कहा कि सरकार ने संस्कृत शिक्षकों की भर्ती शुरू कर दी है। कई की भर्ती हो चुकी है लेकिन यह काम जारी रहेगा।

कांग्रेस नेता अजय सिंह को सजा, 10 हजार का जुर्माना भी, सीएम शिवराज से है केस का कनेक्शन

मंदिर के पुजारियों को मिलेंगे 5 हजार सम्मान,Parshuram Jayanti : 

Parshuram Jayanti : मुख्यमंत्री चौहान ने मंदिर से जुड़े पुजारियों का जिक्र करते हुए कहा कि मंदिर के जिन पुजारियों की जमीन कुर्क नहीं है उन्हें पांच हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय दिया जाएगा ताकि उनकी पूजा में कोई परेशानी न हो. हालांकि मुख्यमंत्री ने पहले 4,000 रुपये की घोषणा की थी, लेकिन आलोक शर्मा के अनुरोध पर उन्होंने राशि बढ़ाकर 5,000 रुपये कर दी।

उन्होंने आगे कहा कि मंदिर के पुजारी को सभी मंदिरों से जुड़ी जमीन रखने का पूरा अधिकार होगा। सरकारी दखल रुकेगा, लेकिन मंदिर की जमीन को बिकने से रोकने के लिए कमेटी बनेगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button