पन्ना : महारानी गिरफ्तार, संपत्ति के विवाद पर राजमाता पर पिस्टल तानने का आरोप

पन्ना: पन्ना राजपरिवार की संपत्ति के मालिकों का आपसी विवाद एक बार फिर से सामने आया है पवई पुलिस में पन्ना महारानी जीतेश्वरी देवी को राजमाता दिलहर कुमारी पर पिस्टल तानने और मारपीट करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है पुलिस ने महारानी को न्यायालय में पेश किया गिरफ्तारी के बाद महारानी जीतेश्वरी देवी ने कहा कि महाराज की बीमारी का फायदा उठाकर साजिश के तहत कार्यवाही की जा रही है

बता दें कि पन्ना राजपरिवार की सबसे बड़ी सदस्य राजमाता दिलहर कुमारी की शिकायत पर पुलिस ने महारानी जीतेश्वरी देवी उनके पति महाराज राघवेंद्र सिंह बेटा बेटी और अन्य सहयोगियों के खिलाफ आर्म्स एक्ट घर प्रवेश गाली गलौज धमकी सहित अन्य विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है

बताते चले कि राजपरिवार का संपत्ति विवाद कोई नई बात नहीं है बीते डेढ़ दशक से यह विवाद चल रहा है परिवार के कई वरिष्ठ सदस्य आमने सामने आते हैं लेकिन महाराज की मौत के बाद कुछ दिनों के लिए शांत यह विवाद एक बार फिर से सामने आया है

वही संपत्ति को लेकर पन्ना का सबसे प्रतिष्ठित परिवार बीते दो दशक से एक दूसरे का दुश्मन बना हुआ है इसके पहले भी कई बार ऐसी मारपीट गाली-गलौज संपत्ति हड़पने के आरोप लगते और लगाते रहे हैं कुछ साल पहले ही राजमाता दिलहर कुमारी की रिपोर्ट पर हुई शिकायत में तबके युवराज और अब महाराज राघवेंद्र सिंह 1 साल तक तिहाड़ जेल में बंद रह चुके हैं

वहीं मामले में पन्ना पुलिस अधीक्षक धर्मराज मीणा ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ कोतवाली थाने में मामला रजिस्टर्ड किया गया है पहले भी एक आरोपी को गिरफ्तार करके न्यायालय में पेश किया गया था जहां से उसे जेल भेजा जा चुका है आज एक और आरोपी की गिरफ्तारी पवई से हुई है उसे भी न्यायालय में पेश कर रहे हैं

यह विवाद 15 सालों से चल रहा है

पन्ना राजघराने के सदस्यों में संपत्ति का विवाद 2005 – 2006 से चल रहा है पन्ना के दिवंगत महाराज मानवेंद्र सिंह के निधन के बाद उनके एकलौता पुत्र राघवेंद्र सिंह ने पन्ना राजघराने की गद्दी संभाली थी जिसके बाद से राघवेंद्र सिंह की पत्नी जीतेश्वरी देवी और उनकी माता दिलहर कुमारी के बीच में संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा है

पहला कारण

संपत्ति विवाद का एक कारण पन्ना राजा राघवेंद्र सिंह के पिता मानवेंद्र सिंह और उनकी बहनों की संपत्ति से जुड़ा हुआ है दिवंगत महाराज मानवेंद्र सिंह के एक भाई और दो बहने थी उनके भाई लोकेंद्र सिंह पन्ना से सांसद और विधायक रह चुके हैं उनकी दोनों बहने पन्ना में ही रहती थी उनकी कोई औलाद नहीं है बंटवारे में लोकेंद्र सिंह का हिस्सा उन्हें दिया जा चुका है जबकि दोनों बहनों के हिस्से में राजमाता का दावा है कि उनकी ननंद की संपत्तियों पर उनका अधिकार है जबकि महारानी जीतेश्वरी देवी का कहना है कि अब वह पन्ना की महारानी इसलिए राज परिवार की सभी संपत्तियों पर केवल और केवल उनका अधिकार है

दूसरा कारण

विवाद का दूसरा कारण राजा राघवेंद्र सिंह की बहन कृष्णा राजे हैं जिनका अपने पति से तलाक हो चुका है वह पन्ना में अपनी मां राजमाता दिलहर कुमारी के साथ रहती है राजमाता का दावा है कि दिवंगत महाराज मानवेंद्र सिंह भी सभी संपत्तियों के आधे भाग पर कृष्णा राजे का हिस्सा है और आधे पर राघवेंद्र सिंह का हिस्सा है लेकिन महारानी कृष्णा राजे की संपत्ति को भी अपनी संपत्ति मानती है जिसका विवाद चल रहा है

हीरे का एक हार

वही महल के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक विवाद का तीसरा कारण हीरे का एक हार है जिसमें बहुमूल्य हीरे जड़ित है जो पिछले दिनों रहस्यमई तरीके से गायब हो गया था जिस पर राजमाता और महारानी के बीच जमकर विवाद हुआ था इसी विवाद के बीच बचाव में धक्का लगने के कारण पन्ना महाराज सीढ़ियों से गिरकर घायल हो गए थे और बीमार चल रहे थे पिछले दिनों जगन्नाथ रथयात्रा में महाराज की जगह युवराज ने रथ की अगवानी की थी

पन्ना महाराज तिहाड़ जेल की हवा खा चुके हैं

वही पन्ना महाराज राघवेंद्र सिंह तिहाड़ जेल की हवा खा चुके हैं उन्हें उनकी माता दिलहर कुमारी ने पैसों के गबन की शिकायत पर जेल भिजवाया था वह लगभग 1 साल तिहाड़ जेल में रहे उसके बाद जमानत हुई पन्ना महाराज पर आरोप था कि उन्होंने अपने पिता के फर्जी हस्ताक्षर कर चेक से एक करोड रुपए निकाले थे जिसकी शिकायत उनकी मां ने पुलिस से की थी और बेटे को जेल भिजवा दिया

 

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button