PADMAN रिटर्न, यहाँ महिलाये खुद बना रही है सेनेटरी नैपकिन

आप को 2018  मेंआई अभिनेता अक्षयं कुमार Akshay Kumar की फिल्म Padman याद होगी  जिसमे शानदार अभिनय के साथ भारत जैसे देशो की एक बड़ी समस्या सेनेटरी नैपकिन पर बेहद जरुरी सन्देश दिया था और स्वसहायता के माध्यम से सेनेटरी नैपकिन बनाने का काम सुरु किया था कुछ ऐसा ही होने जा रहा है मध्यप्रदेश के सिंगरौली (SINGRAULI) जिले में जहा कलेक्टर केवीएस चौधरी के द्वारा ग्राम पंचायत जरहा में विगत दिवस सेनेटरी नैपकिन ईकाइ केन्द्र का सुभारंभ किया गया। यह केन्द्र श्रीमती चंदा शाह के द्वारा स्व-सहायता समूह का गठन कर आरएनयूएलएम प्राप्त 75 हजार की सहायता राशि से अपने ही गाव में सेनेटरी नैपकिंन का निर्माण किया जायेगा।। सहायता प्राप्त राशि से सेनेटरी नैपकिन बनाने वाली मशीन के साथ साथ इसको तैयार करने हेतु स्व-सहायता समूह की महिलाओ को प्रशिक्षण भी दिलाया गया।

ये है असली पैडमैन

अरुणाचलम मुरुगनांथम (पैडमैन) (जन्म 12 अक्टूबर 1961 [1]) भारत के तमिलनाडु के कोयम्बटूर के एक सामाजिक उद्यमी हैं। वह कम लागत वाली सैनिटरी पैड बनाने वाली मशीन के आविष्कारक हैं और उन्हें ग्रामीण भारत में मासिक धर्म के आसपास पारंपरिक अनहोनी प्रथाओं के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए जमीनी स्तर के तंत्र को नया करने का श्रेय दिया जाता है। उनकी मिनी मशीनें, जो वाणिज्यिक पैड की लागत के एक तिहाई से भी कम समय के लिए सैनिटरी पैड का निर्माण कर सकती हैं, भारत के 29 राज्यों में से 23 में स्थापित की गई हैं। वर्तमान में वह इन मशीनों के उत्पादन को 106 देशों में फैलाने की योजना बना रहा है। [2] फिल्म की अवधि। वाक्य का अंत। वर्ष 2018 के लिए सर्वश्रेष्ठ वृत्तचित्र (लघु विषय) के लिए अकादमी पुरस्कार जीते है

SINGRAULI इस असवर पर कलेक्टर श्री चौधरी के द्वारा अपने उद्बोधन में उपस्थित स्व सहायता समूह की महिलाओ को संबोधित करते हुये कहा कि जहा इस केन्द्र के संचालन से जहा समूह के महिलाओ के जीवन स्तर को उपर उठाने मे मदद मिलेगी। उन्होने ने कहा कि शासन की मंशानुसार जिला प्रशासन के द्वारा डीएमएफ मद से आर्थिक सहायता उपलंब्ध कराया जा रहा है। स्व सहायता समूहो को संब्जी, उत्पादन, मुर्गी पालन, बकरी पालन, सहित अन्य छोटे उद्योगो को स्थापित करने के लिए आर्थिक सहायता उपलंब्ध कराया जा रहा है।

किशोरी बालिकाओ को सहजता से सेनेटरी नैपकिन मिलेगी

कलेक्टर ने कहा कि इस सेनेटरी नैपकिंन केन्द्र से इस क्षेत्र के महिलाओ को किशोरी बालिकाओ को सहजता से सेनेटरी नैपकिन मिलेगी जिससे उनकी समस्याओ के निदान के साथ ही बिमारियो से उनका बचाव हो सकेगे। उन्होने कहा कि जो राशि स्व सहायता समूह के लिए स्वीकृत की गई है उसे वापस नही लिया जायेगा। उन्होने ने कहा कि समूह के सदस्य आपस में लेनदारी करे एवं जो राशि उधार दे ब्याज सहित प्रत्येक संप्ताह इसकी वशूली भी करे। इस अवसर पर सरपंच ग्राम पंचायत खुटार बालमुकुद सिंह वरष्टि समाजसेवी देवेन्द्र पाठक, रामकृपाल शाह, महिला बाल विकास अधिकारी प्रवेश मिश्रा, परियोजना अधिकारी अरविंद सिंह चंदेल, एनसीएल अमलोरी के सीएसआर प्रबंधक अमरेन्द्र, एनआरएलएम की मंजूला झा,सुरेन्द्र सिंह, प्रशांत सिंह, रामकुमार, धीरज तिवारी सहित ग्रामीण जन उपस्थित रहे।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button