गर्लफ्रैंड की शर्त ने बदली किस्मत,भिखारियों के बगल में सोने वाला आज है IPS अफसर

हर कोई भाग्यशाली और अमीर बनना चाहता है। लेकिन भगवान की असीम कृपा केवल भाग्यशाली लोगों पर ही होती है। धरती पर किसकी किस्मत चमकेगी, इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। आज इस कड़ी में हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताएंगे जो पहले एक भिखारी के साथ सोता था, लेकिन गर्लफ्रैंड की शर्त की वजह से अंत में उसकी किस्मत इस तरह बदल गई कि उसने जिंदगी में कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। आज वे आईपीएस (IPS) अफसर बन गए हैं।

जन्म और घर की स्थिति

आपको बता दें कि हम बात कर रहे हैं मनोज शर्मा नाम के एक खास शख्स की। जो भिखारियों के साथ सोते थे और 12वीं में फेल हो गए थे , उन्होंने ऑटो भी चलाया । लेकिन अंत में उनके प्यार ने उन्हें IPS ऑफिसर बना दिया। मध्य प्रदेश के मुरैना गांव में जन्में मनोज शर्मा की प्राथमिक शिक्षा बहुत ही खराब थी। दरअसल, उन्हें स्कूल में 33 फीसदी अंक भी बड़ी मुश्किल से हांसिल होते थे । जैसे तैसे उन्होंने अपनी ग्यारहवीं कक्षा की पढ़ाई पास की । लेकिन 12वीं में किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और वह फेल हो गए। उनके घर की हालत इतनी खराब थी की उस समय उन्होंने ग्वालियर में टेंपो भी चलाया था। उनके घर में छत तक नहीं थी. इस वजह से उन्हें भिखारियों के साथ सोना भी पड़ा। लेकिन उनका कड़ा संघर्ष उन्हें आसमान की ऊंचाइयों तक ले गया।

यह भी पढ़ें : शाहरुख खान के बेटे आर्यन 1 दिन में खर्च कर देते हैं 10 लाख रुपए, पिता देते है हर महीने 20 करोड़

संघर्ष के दिनों में किया काम

मनोज शर्मा आज भारतीय पुलिस सेवा के सबसे बहादुर अधिकारियों में से एक हैं। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब आर्थिक तंगी के चलते वह अधिकारियों के कुत्तों घुमाया करते थे। उन दिनों मनोज के पास पैसे नहीं थे, इसलिए वह मंदिर में भिखारियों के साथ सोते थे । किसी तरह मनोज को एक लाइब्रेरी में लाइब्रेरियन कम प्यून की नौकरी मिल गई। उसी पुस्तकालय में ने मनोज गोर्की और अब्राहम लिंकन जैसे कई महान लोगो को पढ़ा और उनके द्वारा किए गए कार्यों को अच्छी तरह से समझा । यहाँ पुस्तकों को पढ़कर उन्हें जीवन के वास्तविक पहलुओं का ज्ञान हुआ।

हालांकि, बारहवीं कक्षा के दौरान मनोज के पास परीक्षा में नकल करने की पूरी योजना थी। लेकिन क्लास के दौरान सख्ती के चलते वह कॉपी भी नहीं कर पाए , मनोज उस समय एक शक्तिशाली व्यक्ति बनना चाहता थे । उन दिनों मनोज का दिल श्रद्धा नाम की एक लड़की पर आ गया। लेकिन वो कभी भी उसके सामने अपने प्यार का इजहार नहीं कर पाए । उन्हें डर था कि लड़की उसे 12वीं फेल मानकर उसके प्यार को ठुकरा देगी। लेकिन अंत में उसने लड़की के सामने अपने प्यार का इजहार किया।

गर्लफ्रैंड की शर्त ने कैसे बदली किस्मत

उन्होंने श्रद्धा को प्रपोज करते हुए कहा कि अगर तुम हां कहो और मेरा साथ दो तो मैं दुनिया को पलट दूंगा। उसके बाद मनोज ने कड़ी मेहनत की और सब कुछ सच कर दिया। उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा पास की और सफलता हासिल की। वह 2005 बैच के महाराष्ट्र कैडर से आईपीएस बने। वर्तमान में, वह मुंबई में एडिशनल कमिश्रनर ऑफ वेस्ट रीजन के रूप में कार्यरत हैं।

यह भी पढ़ें : ये सिक्का बदल देगा आप की किस्मत, 1 रुपये के मिलेंगे 9 लाख

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button