अब आगे बढ़ेगा मध्यप्रदेश, पीछे पलटकर नहीं देखेगा : शिवराज

उज्जैन, 11 जुलाई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को उज्जैन के सोयाबीन प्लांट की जमीन पर तमिलनाड़ु की बेस्ट कॉर्पोरेशन कंपनी द्वारा निर्मित की जा रही अत्याधुनिक वस्त्र इकाई का भूमि पूजन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि उज्जैन में जो कंपनी अपना प्लांट लगाने जा रही है वह तमिलनाड़ु के त्रिपुर से आ रही है, जहां पर टेक्सटाइल का हब है। चार वर्ष पूर्व जब वे त्रिपुर गये थे तो इस उद्योग को लाने का प्रयास किया और आज वह प्रयास सफल हुआ है। अब मध्यप्रदेश आगे बढ़ेगा, अब पीछे पलटकर नहीं देखेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान महाकाल की नगरी में आज नव-उद्योग का सूर्योदय हुआ है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत की तरह आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का निर्माण भी किया जा रहा है। भगवान महाकाल की कृपा से उज्जैन में महाकाल परिक्षेत्र के बेगमबाग क्षेत्र में भी नवनिर्माण का सूत्रपात होने जा रहा है।

यह भी पढ़ें –    प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों पर पुलिस ने चलाया वाटर कैनन, फिर भी डटे रहे दिग्विजय सिंह

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोनाकाल में लोगों को रोजगार के संकट का सामना करना पड़ रहा है। आत्मनिर्भर भारत की तर्ज पर आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिये रोजगार संवर्धन आवश्यक है। उन्होंने कहा कि तमिलनाड़ु की कंपनी द्वारा तैयार किया जाने वाला यह प्लांट अगस्त-2022 से अपना कार्य शुरू कर देगा। इससे 90 प्रतिशत यहीं की बहनों को ट्रेनिंग दिलाकर रोजगार से जोड़ा जायेगा।

उन्होंने कहा कि बेस्ट कॉर्पोरेशन द्वारा 150 एकड़ जमीन और चाही गई है, जिससे वे यहां एक नया प्लांट और डालेंगे। इस मामले में देरी नहीं करते हुए तुरन्त कंपनी को जमीन दी जायेगी। बाबा महाकाल की नगरी में अगले माह प्रतिभा सिंटेक्स द्वारा अपने प्लांट का भूमि पूजन किया जायेगा। इसी तरह विक्रम उद्योगपुरी में कर्नाटका एंटीबायोटिक्स, सांई मशीन्स, अमूल एवं श्रीनिवास सहित अन्य कंपनियों द्वारा 1017 करोड़ के निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं, इन सभी से चार हजार लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार से जोड़ा जा सकेगा। यही नहीं नागदा में ग्रेसिम द्वारा तीन हजार करोड़ का निवेश विभिन्न चरणों में लगाया जायेगा। इस तरह उज्जैन जिले में उद्योग के एक नये युग का प्रारम्भ होने जा रहा है।

यह भी पढ़ें – सिंधिया ने उड्डयन मंत्री बनने के बाद सबसे पहले मप्र को दी सौगात

उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार स्थानीय लोगों को रोजगार मिले इसके लिये कटिबद्ध है। जनता से उन्होंने अपील की है कि वे औद्योगिक वातावरण को अच्छा बनाये रखने के लिये उद्योगपतियों का सहयोग करें इसके पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने बेस्ट कॉर्पोरेशन कंपनी द्वारा स्थापित किये जा रहे प्रोजेक्ट का विधि-विधान से भूमि पूजन किया। इस अवसर पर वित्त एवं वाणिज्य कर मंत्री जगदीश देवड़ा, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, सांसद अनिल फिरोजिया, विधायक पारस जैन, बहादुरसिंह चौहान, प्रमुख सचिव उद्योग संजय शुक्ला, प्रबंध संचालक एमपीआईडीसी जॉन किंग्सले, कलेक्टर आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार शुक्ल, मप्र औद्योगिक विकास निगम के कार्यकारी निदेशक रोहन सक्सेना, विवेक जोशी, पूर्व सांसद डॉ.सत्यनारायण जटिया, चिन्तामणि मालवीय मौजूद थे।

कार्यक्रम में उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि आज का दिन उज्जैन के इतिहास में नये युग की शुरूआत है। वस्त्र उद्योग की स्थापना से चार हजार महिलाओं को सीधे रोजगार मिलेगा। यही नहीं महिलाओं का चयन कर ढाई-ढाई सौ की बैच में ट्रेनिंग देना अभी से शुरू किया जायेगा। उन्होंने कहा कि उद्योग के लिये जमीन पर्याप्त मिल रही है और औद्योगिक विकास निगम व उद्योग विभाग द्वारा उद्योगपतियों का पूरा सहयोग किया जा रहा है। जिस तरह से निवेशक उज्जैन के प्रति आकृष्ट हो रहे हैं, इससे यहां उद्योग की एक माला तैयार हो जायेगी।

यह भी पढ़ें – CM शिवराज ने दी बड़ी सौगात किया भूमि पूजन, जल्दी मिलेगा ये लाभ

वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने कहा कि आज उज्जैन के लिये बहुत ही खुशी का दिन है। उन्होंने उद्योग स्थापित कर रहे उद्योगपति व उनकी टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर मप्र की दिशा में प्रदेश निरन्तर आगे बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में हम निरन्तर विकास के पथ पर आगे बढ़ेंगे। औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने कहा कि उज्जैन में शुरू हो रही यूनिट से चार हजार महिलाओं को रोजगार मिलेगा। साथ ही यह प्रोजेक्ट पर्यावरण फ्रेंडली है।

वस्त्र निर्माण इकाई के बारे में जानकारी

मुख्यमंत्री चौहान ने जिस अत्याधुनिक वस्त्र इकाई का भूमि पूजन किया उसका निर्माण बेस्ट कॉर्पोरेशन कंपनी तमिलनाड़ु द्वारा किया जा रहा है। उज्जैन प्रोजेक्ट में उक्त कंपनी की वस्त्र निर्माण सहयोगी इकाई द्वारा 60 करोड़ रुपये का निवेश किया जायेगा। यहां पर एक हजार गारमेंट मेन्युफेक्चरिंग मशीनों का प्लांट लगाया जा रहा है। इस प्लांट के लगने से चार हजार श्रमिकों को प्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा।

 

 

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button