snn

एमपी की अनोखी love story : एक ही मंडप में तीन प्रेमिकाओं के साथ शादी, 15 साल तक लीव-इन में रहे, 6 बच्चे भी हुए

एमपी की अनोखी love story : एक ही मंडप में तीन प्रेमिकाओं के साथ शादी, 15 साल तक लीव-इन में रहे, 6 बच्चे भी हुए ,उनके प्रवास के दौरान उनके तीन प्रियजनों से छह बच्चे थे। इस शादी में बच्चे बेहद खुश नजर आए। वह अपने माता-पिता को दूल्हे के रूप में देखकर खूब नाचती-कूदती है। बड़ी संख्या में शादियों में गांव के लोगों ने भी हिस्सा लिया। मेहमानों के निमंत्रण भी छपे थे।

अलीराजपुर , love story : मध्य प्रदेश में एक सनसनीखेज घटना सामने आई है. जहां एक ही मंडप में एक नहीं बल्कि एक पुरुष ने तीन गर्लफ्रेंड से शादी की है। घटना आदिवासियों के बसे अलीराजपुर जिले की है। शादी में आदिवासी रीति-रिवाजों का पालन करते हुए दूल्हे ने सात फेरे लिए। हैरानी की बात यह है कि शादी में उनकी तीन में से छह जानेमन भी मौजूद थीं।

क्या अनोखा मामला है
निवासी समर्थ मौर्य है, जो नानपुर क्षेत्र के पूर्व सरपंच भी रह चुके हैं. उसे 15 साल में तीन अलग-अलग लड़कियों से प्यार हो गया। बदले में, वह उन तीनों को अपने घर ले गया और उन्हें अपनी पत्नी के रूप में रखा। फिर उसने जाकर उन तीनों से एक ही मंडप में विवाह किया।

love story : इस शादी में उनके सभी बच्चे खुश हैं। उन्होंने बारात में जमकर डांस किया। इस विवाह समारोह में गांव के लोगों ने भी बड़ी संख्या में भाग लिया। शादी का निमंत्रण भी छपा था। जहां दूल्हे के नाम के साथ तीन दुल्हनों के नाम लिखे गए।

एमपी की अनोखी love story : एक ही मंडप में तीन प्रेमिकाओं के साथ शादी, 15 साल तक लीव-इन में रहे, 6 बच्चे भी हुए
photo by google

स्वदेशी परंपरा क्या है? love story : 
इस शादी में दूल्हा मौर्य बेहद खुश है। उसने कहा कि 15 साल पहले वह गरीब थी, इसलिए उसकी शादी नहीं हो सकी और अब उसने उसकी इच्छा पूरी कर दी है। वह स्वदेशी विलाला समुदाय से आते हैं। इस समुदाय को रहने और बच्चे पैदा करने की अनुमति है, जब तक कि कानूनी रूप से विवाहित न हो।

कांग्रेस नेता अजय सिंह को सजा, 10 हजार का जुर्माना भी, सीएम शिवराज से है केस का कनेक्शन

जब तक ऐसा नहीं होगा दूल्हा या ऐसा करने वाला कोई भी व्यक्ति किसी भी अच्छे काम में शामिल नहीं हो पाएगा। इसलिए 15 साल और 6 बच्चों के बाद समर्थ ने जीवन भर के लिए अपने तीन प्रेमियों के साथ शादी के बंधन में बंध गए। अब वह किसी भी शुभ कार्य में अपनी दुल्हनों के साथ शामिल हो सकता है।

भारतीय संविधान क्या कहता है
love story : अगर हम भारतीय संविधान में तीन दुल्हनों के एक साथ विवाह की बात करें तो संविधान का अनुच्छेद 342 आदिवासी रीति-रिवाजों और कुछ सामाजिक परंपराओं की रक्षा करता है। इस कारण इस अनुच्छेद के अनुसार समर्थ मौर्य में तीन वरों का एक साथ विवाह अवैध नहीं, मान्य माना जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button