MP News: हिंदी में पढ़ाई के बाद अब खादी का एप्रिन पहनेंगे डॉक्टर! एनएमसी ने दिया सुझाव

MP News: शिक्षा के क्षेत्र में भारतीयकरण की दिशा बदलने की बात लगातार होती रहती है। इस बीच, हिंदी को चिकित्सा शिक्षा की भाषा के रूप में शामिल करने के बाद राष्ट्रीयकरण की दिशा में एक और कदम उठाने की तैयारी चल रही है। खादी के इस्तेमाल के लिए राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) ने पहल की है।

इसके लिए एनएमसी ने देश के सभी मेडिकल कॉलेजों को पत्र भेजकर खादी के इस्तेमाल की सलाह दी है.

MP News:

एनएमसी ने पत्र में सुझाव दिया है कि डॉक्टर और नर्स एप्रन के साथ-साथ अस्पताल में इस्तेमाल होने वाले हर कपड़े जैसे खादी से बने चादरें, पर्दे आदि पहनते हैं।

पत्र में गाउन और तकिए के कवर जैसी वस्तुओं में खादी के इस्तेमाल का भी जिक्र है। एनएमसी का कहना है कि खादी अन्य प्रकार के कपड़ों की तुलना में अधिक सुविधाजनक है और इसे विभिन्न मौसमों में इस्तेमाल किया जा सकता है।

MP News:

 इसे भी पढ़े-Utility News: 6जी के आने के बाद बदल जाएगी दुनिया! शरीर के अंदर डाल दी जाएगी ये चीज

MP News:

इस विशेषज्ञ ने कहा
विशेषज्ञों के अनुसार खादी के कपड़े स्वास्थ्य के साथ-साथ पर्यावरण के अनुकूल भी हैं। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों के लिए ड्यूटी के दौरान फुल एप्रन यानी सफेद कोट पहनना अनिवार्य है. विशेषज्ञों का मानना ​​है कि खादी के प्रयोग से डॉक्टरों की कार्यक्षमता भी बढ़ेगी।

 इसे भी पढ़े-MP News: तेज रफ्तार कार डम्पर से टकराई, एक ही परिवार के चार लोगों की मौत

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button