MP : हाई स्कूल का परीक्षा परिणाम घोषित, सभी विद्यार्थी उत्तीर्ण

भोपाल, 14 जुलाई । मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) की हाई स्कूल बोर्ड परीक्षा-2021 का परिणाम बुधवार शाम 4.00 बजे राज्य के स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इंदर सिंह परमार ने सिंगल क्लिक के माध्यम से घोषित कर दिया। पहली बार 10वीं का परिणाम शत-प्रतिशत रहा। यानी, इस बार किसी भी विद्यार्थी को फेल नहीं किया गया।

इस वर्ष माध्यमिक शिक्षा मंडल की कक्षा दसवीं में दस लाख विद्यार्थी थे, सभी उत्तीर्ण हो गए। इनमें प्रथम श्रेणी में 3 लाख 56 हजार विद्यार्थी रहे, द्वितीय श्रेणी में 3 लाख 97 हजार विद्यार्थी और तृतीय श्रेणी में एक लाख 59 हजार विद्यार्थी पास हुए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भांजे-भांजियों को हाई स्कूल परीक्षा उत्तीर्ण करने पर बधाई दी है।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार भी परीक्षा परिणाम ऑनलाइन घोषित किया गया। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा परीक्षा परिणाम एमपी बोर्ड की वेबसाइट mpbse.nic.in पर जारी कर दिया गया है। कोरोना संक्रमण के चलते परीक्षाएं रद होने के बाद दसवीं का रिजल्ट छमाही, प्री-बोर्ड और यूनिट टेस्ट एवं आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर तैयार किया गया है। इस बार प्रावीण्य सूची जारी नहीं की गई हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा जारी वर्ष 2021 के हाई स्कूल परीक्षा परिणाम पर विद्यार्थियों के लिए आपने संदेश में लाड़ली भांजियों और प्रिय भांजों को बधाई देते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमण के कारण रेग्यूलर परीक्षाओं में व्यावधान आया। मुझे चिंता थी कि आपका साल खराब न हो। इसलिए यह तय किया कि बेस्ट ऑफ फाइव के आधार पर जिन विद्यार्थियों ने फार्म भरा है, उनका परीक्षा परिणाम घोषित किया जाए। जिन विद्यार्थियों ने फार्म भरे आज उनका परीक्षा परिणाम घोषित हो गया। मैं आपके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ। आप आगे प्रगति करते रहें, लगातार आगे बढ़ें, भगवान के चरणों में यही मेरी प्रार्थना है।

और बेहतर परीक्षा परिणाम के लिए खुला है विकल्प

मुख्यमंत्री ने कहा कि, जो विद्यार्थी यह चाहते हैं कि और बेहतर परीक्षा परिणाम लाएं, उनके लिए विकल्प खुला है। एक सितम्बर 2021 से 25 सितम्बर 2021 के बीच परीक्षाएँ आयोजित की जायेंगी। विद्यार्थी अपनी तैयारी करें, ऑनलाइन फार्म भरें।

ऑनलाइन और वर्चुअल पढ़ाई, एक्चुअल का विकल्प नहीं

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण अब नियंत्रण में है, पर स्थिति पर हम नजर रखे हुए हैं। लेकिन कई दिनों से स्कूल नहीं खुले। ऑनलाइन और वर्चुअल पढ़ाई, एक्चुअल का विकल्प नहीं हो सकती। आखिर विद्यालय विद्यालय होते हैं। इसलिए महाविद्यालय, विद्यालयों को खोलने की प्रक्रिया हम प्रारंभ कर रहे हैं। इसकी पूरी प्रक्रिया तय की जा रही है।

कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन जरूरी

मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों को शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि एक ध्यान रखना जरूरी है। कोरोना की तीसरी लहर पर हमारी नजर है, तैयारी भी सब कर रहे हैं। लेकिन आप कोरोना के संक्रमण को रोकने अनुकूल व्यवहार करते रहें। यह बहुत जरूरी है।

गौरतलब है कि अगर कोई विद्यार्थी अपने परिणाम से असंतुष्ट होता है तो उनके लिए एक से 25 सितंबर के बीच विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी, जिसमें वे शामिल हो सकेंगे। इसके लिए विद्यार्थियों को एक से दस अगस्त के बीच आनलाइन पंजीयन कराना अनिवार्य होगा। परीक्षा आयोजन का विस्तृत कार्यक्रम अलग से जारी किया जाएगा। मंडल द्वारा विभिन्न् पोर्टल के माध्यम से परिणाम ज्ञात करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button