MP में हुआ बड़ा राशन घोटाला, अधिकारी निलंबित, 31 पर FIR

इंदौर मध्यप्रदेश( MP)के इंदौर (Indore)में कलेक्टर मनीष सिंह (Collector manish singh)ने एक बड़े राशन घोटाला का पर्दाफाश किया है इंदौर कलेक्टर ने 12 राशन दुकानों से लगभग 51 हजार गरीब परिवारों का करीब 80 लाख का राशन घोटाले उजागर किया है लापरवाही के चलते इंदौर कलेक्टर खाद्य अधिकारी आरसी मीणा को निलंबित कर दिया गया है और एफ आई आर दर्ज करने की बात कही है भारत दवे श्याम दवे प्रमोद दही गुड़े सहित 31 लोगों पर विभिन्न थानों में एफ आई आर दर्ज कराई गई है

दरअसल इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने आज मंगलवार को वीडियो को जानकारी देते हुए बताया कि नहीं लगातार जिले की पीडीएस दुकानों से खाद्यान्न काम और वितरण नहीं होने की सूचना मिल रही थी जिसके बाद कलेक्टर के निर्देश पर 12 जनवरी को जांच दलों ने 1 दर्जन से अधिक दुकानों पर छापामार कार्रवाई की और 80 लाख के इस घोटाले का पर्दाफाश किया करीब ढाई लाख किलो से ज्यादा 51 हजार से अधिक गरीबों का राशन माफियाओं द्वारा हड़पा गया है

यह भी पढ़ें –  कमलनाथ ने आखिर क्यों किया शिवराज सिंह का समर्थन, पढ़ें पूरी खबर

कलेक्टर ने बताया कि इस मामले में भारत दवे श्याम दवे और प्रमोद दहीगुड़े के खिलाफ रासुका की कार्रवाई होगी वही अनियमितता पाए जाने पर संपत्ति भी जब्त होगी इस मामले में निलंबित खाद्य अधिकारी आरसी मीणा के खिलाफ भी एफआईआर की जाएगी अलग-अलग पांच स्थानों पर मामले में एफआइआर दर्ज करवाई जा रही है आरोपियों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 5/7आईपीसी 420 और राष्ट्र में अमानत में खयानत की धारा 409 और 120 बी के तहत मामला दर्ज होगा

बताने की कोरोनावायरस आन मंत्री गरीब कल्याण योजना और मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना चलाई थी जिसके तहत अप्रैल से नवंबर तक यह राशन वितरित किया जाना था हालांकि यह पहला मौका नहीं है इससे पहले महू भोपाल जबलपुर ग्वालियर से बड़े घोटाले उजागर हुए थे

यह भी पढ़ें –  टीआई के खौफ से महिला परेशान, पढिये क्या है पूरा मामला

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button