MP में मजदूर निकला 10 करोड़ का असामी, हैरान कर देगा यह मामला BHOPAL NEWS

भोपाल 15 दिसंबर । मध्य प्रदेश में लगातार आयकर विभाग द्वारा बेनामी संपत्तियों के मामले में शिकंजा कस रहा है लगातार आयकर विभाग प्रदेश के अलग-अलग जिलों में छापेमारी कर बड़ी कार्रवाई न कर रहा है इसी बीच राजधानी भोपाल में एक मामला सामने आया है जिसके कनेक्शन शहडोल और उमरिया जिले से जुड़े हुए हैं यहां मनरेगा में दिहाड़ी मजदूरी करने वाले एक मजदूर के पास 10 करोड़ की बेनामी संपत्ति उजागर हुई है

असल में आयकर विभाग ने भोपाल में बेनामी संपत्ति के लेनदेन में एक बड़ा खुलासा किया है इसमें एक मजदूर के नाम 10 करोड़ की 33 एकड़ जमीन का पता चला है आयकर विभाग द्वारा जांच करने पर पता चला कि जमीन एक आदिवासी से खरीदी गई थी जिसके मालिक उमरिया और शहडोल जिले के बड़े कांट्रेक्टर पदम सिंघानिया हैं आयकर विभाग को जांच में पता चला कि कांट्रेक्टर ने अपने यहां काम करने वाले एक दिहाड़ी मजदूर के नाम पर यह जमीन खरीदी है इसके बाद आयकर विभाग ने बेनामी संपत्ति लेनदेन मामले के तहत कार्यवाही की है

MP के इस स्कूल में 10 छात्र हुए कोरोना पॉजीटिव मचा हड़कंप BHOPAL NEWS

जानकारी के मुताबिक पदम सिंघानिया ने मध्य प्रदेश भू राजस्व संहिता 1959 का भी उल्लंघन किया है जिसमें यह नियम है कि एक आदिवासी की जमीन नियमानुसार आदिवासी ही खरीद सकता है जबकि सिंघानिया ने यह जमीन अपने आदिवासी नौकर के नाम से खरीदी है और बाद में अपने बेटे के नाम पर जमीन का ट्रांसफर करवा लिया इससे पहले आयकर विभाग ने 15 दिन इस मामले की पड़ताल और जांच करने के बाद शहडोल और उमरिया जिले में छापेमारी की थी वही गांव वालों से पूछताछ के दौरान सच्चाई सामने आने पर आयकर विभाग ने इसकी पड़ताल और कार्यवाही की है

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button