snn

मध्य प्रदेश के Khargone में पुलिस ने नहीं लिखी बेटी के अपहरण की रिपोर्ट, दुखी पिता ने लगाई फांसी

मध्य प्रदेश के Khargone जिले के सनावद में उन्हें इतना दुख हुआ कि उन्होंने अपने असहाय पिता की गुहार सुने बिना ही मौत को गले लगा लिया. सनावद के मंडलोई क्षेत्र निवासी जितेंद्र बनवड़े अपनी बेटी के अपहरण पर रिपोर्ट लिखने के लिए थाने गए थे. लेकिन वहां उसकी सुनवाई नहीं हुई, पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 151 के तहत मामला दर्ज कर मामले को छिपाने की कोशिश की. घायल जितेंद्र घर आया और फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

यह है पूरी बात
गुरुवार को Khargone के सनावद के मंडलोई क्षेत्र में शिव नाम का युवक मानसिक रूप से विक्षिप्त लड़की को अगवा करने की नीयत से ले जा रहा था. परिजनों ने शिवा को लड़की को ले जाते देखा तो हंगामा शुरू हो गया। युवती ने बताया कि युवक पहले भी दो-तीन बार उसे घर ले गया था। परिवार को शक है कि उनकी बेटी के साथ गलत किया गया है। इस पर परिजन Khargone थाने पहुंचे और बच्ची के इलाज की मांग की.

वहीं Khargone पुलिस ने युवक के खिलाफ 151 कदमों के साथ युवक को रिहा कर दिया. Khargone थाने से निकलने के बाद युवक फिर से युवती के घर के सामने पहुंचा और गाली-गलौज करने लगा। इससे लड़की के पिता आहत हैं। थाने से घर पहुंचकर परिवार के सदस्य एक कमरे में बैठकर आपस में बात कर रहे थे। इसी बीच पिता जितेंद्र बनवारा (42) ने घर के दूसरे कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। यही उनकी मौत का कारण है। इसके बाद परिजन फिर थाने पहुंचे और न्याय की गुहार लगाई। जितेंद्र की आत्महत्या की खबर मिलने के बाद पुलिस ने युवक को फिर से गिरफ्तार कर लिया.

Coca-Cola : कभी मिलता था फ्री में , आज है 38.66 बिलियन डॉलर का ब्रांड , यह है Coca-cola की शुरूआती कहानी

Khargone पुलिस मामले की जांच कर रही है
यहां सांवड़ पुलिस थाने के प्रभारी अधिकारी ने कहा कि वह मामले की जांच कर रहे हैं। इससे पहले युवक के खिलाफ अभद्रता का मामला सामने आया था। जिसके आधार पर धारा 151 लगाकर आरोपी की काउंसलिंग की गई। उसे फिर से गिरफ्तार कर लिया गया। मामले की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

पंचायत चुनाव का बिगुल बजा! कलेक्टरों के साथ बैठक में Election Commission ने दिए अहम निर्देश

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button