MP में चुनाव तारीखों का ऐलान, सतना में 30 अक्टूबर को होगी वोटिंग

1 अक्टूबर को इसका नोटिफिकेशन जारी होगा जिसके बाद 8 अक्टूबर को उम्मीदवार नामांकन दाखिल करेंगे 11 अक्टूबर को नामांकन की जांच की जाएगी 13 अक्टूबर को नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख रखी गई है 30 अक्टूबर को मतदान होगा और 2 नवंबर को वोटों की गिनती होगी

उपचुनाव का कार्यक्रम जारी

भोपाल । निर्वाचन आयोग ने सतना जिले के रैगाव में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए ऐलान कर दिया है यहां 30 अक्टूबर को मतदान होगा और 2 नवंबर को प्रणाम घोषित किए जाएंगे तारीखों के ऐलान के बाद अब सियासत तेज हो गई है और एमपी में कांग्रेस और बीजेपी ने जीत हार का दांव लगाना शुरू कर दिया है

भारत निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को मध्यप्रदेश में लोकसभा की एक तथा विधानसभा की तीन रिक्त सीटों पर होने वाले उपचुनाव के तारीखों की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही इन क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई है। आयोग द्वारा उपचुनाव कार्यक्रम के अनुसार, प्रदेश की लोकसभा सीट खंडवा तथा विधानसभा की जोबट, पृथ्वीपुर और रैगांव सीटों के लिए आगामी 30 अक्टूबर को मतदान होगा, जबकि मतगणना 02 नवम्बर को होगी और इसी दिन परिणाम भी घोषित कर दिये जाएंगे।

खंडवा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के निधन के बाद से यह सीट खाली पड़ी हुई है। इसके अलावा मप्र विधानसभा की तीन सीटें रैगांव, जोबट और पृथ्वीपुर भी लम्बे समय से रिक्त हैं। निर्वाचन आयोग द्वारा इन सीटों पर होने वाले उपचुनाव का जो कार्यक्रम जारी किया गया है, उसके उसके मुताबिक, 30 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे और 2 नवम्बर को मतों की गिनती होगी। इससे पहले नामांकन पत्र भरने का काम 1 अक्टूबर से शुरू होगा, जो कि 8 अक्टूबर तक चलेगा, जबकि 13 अक्टूबर तक उम्मीदवार अपने नाम वापस ले सकेंगे। उपचुनाव का कार्यक्रम घोषित होने के साथ ही इन क्षेत्रों में चुनावी गतिविधियां औपचारिक तौर जोर पकड़ने लगी हैं। उपचुनाव कार्यक्रम जारी होते ही संबंधित जिलों में आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो गयी है।

उल्लेखनीय है कि खंडवा-बुरहानपुर संसदीय क्षेत्र से भाजपा सांसद नंदकुमार सिंह चौहान का पिछले साल कोरोना से निधन हो गया, तब से यह सीट खाली है। वहीं, विधानसभी की तीन सीटें रिक्त हैं। इनमें सतना जिले की रैगांव से भाजपा के विधायक जुगल किशोर बागरी का 10 मई को कोरोना से निधन हो गया था। इसी प्रकार अलीराजपुर जिले की जोबट विधायक कलावती भूरिया का 24 अप्रैल और निवाड़ी जिले की पृथ्वीपुर विधानसभा सीट से विधायक बृजेंद्र सिंह राठौर का भी अप्रैल में कोरोना से निधन हो गया था।

उपचुनाव की तारीखों का ऐलान होने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को दोपहर 12 बजे भाजपा कार्यालय पहुंचे और यहां प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत सहित अन्य बड़े पदाधिकारियों के साथ बंद कमरे में बैठक की। बताया जा रहा है कि बैठक में उपचुनाव की रणनीति पर चर्चा हुई।

प्रदेश के दोनों प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस इन उपचुनावों को 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश में सत्ता का सेमीफाइनल मान रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ एक बार फिर चुनाव मैदान में आमने-सामने होंगे। भाजपा अपनी सरकार द्वारा किये जा रहे विकास के कार्यों को जनता के समक्ष रखकर उनसे वोट मांगेगी, जबकि कांग्रेस पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के कार्यकाल में हुए कामों के साथ ही भाजपा पर षड्यंत्र कर सरकार बनाने का मुद्दा जनता के बीच उठाएगी।

यह भी पढ़े : MP : जबलपुर में विमान हाईजैक ! एयरपोर्ट पर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा अन्य अधिकारियों के साथ मौजूद

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button