मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को याद आया पुराना दौर, कहा – पत्र व्यवहार का अलग ही सुख है

भारतीय डाक सेवा की स्थापना यूं तो 166 साल पहले एक अप्रैल 1854 को हुई थी लेकिन सही मायनों में इसकी स्थापना एक अक्तूबर 1854 को मानी जाती है।

भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आज अपने पुराने दिन याद आ गए और उन्होंने कहा कि डिजिटल के इस युग में भी चिट्ठी लिखने पत्र व्यवहार करने का अपना अलग ही सुख है असल में आज 10 अक्टूबर को देश राष्ट्रीय डाक दिवस मना रहा है इस अवसर पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुभकामनाएं दी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करते हुए कहा कि हस्तलिखित पत्रों में जो अतुलनीय प्रेम और अपनेपन की महक आती है वह व्हाट्सएप और ईमेल के संदेश में अनुभूत नहीं होती आइए नेशनल पोस्ट डे पर अपनों को पत्र लिखें प्रेम भाटी रिश्तो को ताजगी दे

SDM के बगले पर घुसा चोर, कीमती सामान नहीं मिला तो लिखी चिट्ठी

भारतीय डाक सेवा 1.55 लाख से भी अधिक डाकघरों के साथ दुनिया की सबसे बड़ी डाक प्रणाली है। ऐसे में आज हम आपको बताते हैं कि हमारे देश में डाक सेवा की शुरुआत कब हुई। भारतीय डाक सेवा की स्थापना यूं तो 166 साल पहले एक अप्रैल 1854 को हुई थी लेकिन सही मायनों में इसकी स्थापना एक अक्तूबर 1854 को मानी जाती है।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button