भोपाल: राजभवन की लिफ्ट खराब होने के मामले में पीडब्लूडी के एसडीओ व सब इंजीनियर सस्पेंड

भोपाल, 12 जुलाई । राजभवन में नवनियुक्त राज्यपाल मंगूभाई पटेल के शपथ ग्रहण समारोह में बड़ी लापरवाही सामने आई थी। ऑडिटोरियम की लिफ्ट खराब थी, जिसके कारण राज्यपाल को सीढ़ियां चढ़कर जाना पड़ा था। इस मामले में पीडब्ल्यूडी के विद्युत शाखा के एसडीओ और सब इंजीनियर को निलंबित कर दिया गया है।

प्रदेश के नवनियुक्त राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने 8 जुलाई को शपथ ली थी। शपथग्रहण समारोह के दौरान दो साल पहले तैयार हुए ऑडिटोरियम की लिफ्ट खराब थी, जिसके चलते 77 साल के राज्यपाल पटेल को सीढ़ियों से चढ़कर जाना पड़ा था। इतना ही नहीं, ऑडिटोरियम के एसी प्लांट को कार्यक्रम से पहले आधी रात को सुधारा गया। राज्य सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए थे।

यह भी पढ़ें –  MP : शिक्षा मंत्री के बंगले के बाहर प्रदर्शन, ये हैं मांग

पीडब्ल्यूडी के प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई ने पाया कि राजभवन के प्रभारी एसडीओ दिनेश कुश्वाहा और सब इंजीनियर हेंमत झारिया की लापरवाही के कारण लिफ्ट को समय रहते नहीं सुधरवाया गया। इसी तरह एसी प्लांट का मेंटनेंस भी नहीं किया जा रहा था। जांच होने के बाद कुशवाहा और झारिया को निलंबित कर दिया गया है।

सूत्रों के मुताबिक राजभवन में मेंटेनेंस की जिम्मेदारी एसडीओ दिनेश कुशवाहा और सब इंजीनियर हेमंत झारिया के पास थी। बताया जाता है कि दोनों इंजीनियर सीएम हाउस में भी तैनात थे। एसडीओ कुशवाहा को लापरवाही के चलते यहां से हटा दिया गया था। उनके स्थान पर एएस चौहान को एसडीओ बनाया गया था, लेकिन कुशवाहा ने चार्ज नहीं छोड़ा। इसी तरह उपयंत्री हेमंत झारियां को लापरवाही और भ्रष्टाचार जैसे आरोपों के चलते मुख्यमंत्री निवास से बाहर किया गया था। उपयंत्री का राजभवन से भी तबादला किया जा चुका है, लेकिन उसके बावजूद राजभवन का काम झारियां द्वारा देखा जा रहा था। जबकि उनके तबादले के बाद उपयंत्री मीताली को तैनात किया जा चुका था।

यह भी पढ़ें –MP : मंत्री ने दी 15 करोड़ की सौगात

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button