पूर्व नेताप्रतिपक्ष के बेटे Arunoday Singh की शादी टूटी, हाईकोर्ट ने दी मंजूरी

MP News In Hindi : पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह के पोते, फिल्म अभिनेता Arunoday Singh और कनाडा में जन्मी ली एल्टन (Lee Elton) की शादी बड़े ही भव्य अंदाज में हुई थी , लेकिन यह शादी टूट चुकी है , समाचार वेब साइट पत्रिका में छपी एक खबर के मुताबिक हाईकोर्ट ने ली एल्टन की उस याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने भोपाल फैमिली कोर्ट के उनके विवाह को भंग करने के आदेश को चुनौती दी थी। फिल्म अभिनेता अरुणोदय (Arunoday Singh) की शादी टूटने की कहानी भी किसी हिंदी फिल्म की तरह ही दिलचस्प है

ऐसा है पूरा मामला

पूर्व नेताप्रतिपक्ष के बेटे Arunoday Singh की शादी टूटी, हाईकोर्ट ने दी मंजूरी.
Photo : Social Media

दरअसल अरुणोदय और ली एल्टन (Arunoday Singh and Lee Elton) के अपने पसंदीदा कुत्ते थे। जब उन दोनों के बीच झगड़ा होता था तो इस बात को लेकर इन दोनों में भी विवाद की स्थिति निर्मित हो जाती थी । नाराज होकर अरुणोदय (Arunoday Singh) ने दूरी बनानी शुरू कर दी। इस कटुता के बीच ली भी एक दिन अपने मायके कनाडा चली गई और इधर अरुणोदय ने भोपाल फैमिली कोर्ट में तलाक के लिए अर्जी दी। अदालत ने ली की अनुपस्थिति में एकतरफा आदेश के साथ उन दोनों की शादी को रद्द कर दिया।

ली एन एल्टन की ओर से हाईकोर्ट में अपील

पूर्व नेताप्रतिपक्ष के बेटे Arunoday Singh की शादी टूटी, हाईकोर्ट ने दी मंजूरी.
Photo : Social Media

भोपाल फैमिली कोर्ट के आदेश को रद्द करने के लिए कनाडा के न्यूफाउंडलैंड (Newfoundland, Canada) निवासी डगलस एल्टन की बेटी ली एन एल्टन की ओर से हाईकोर्ट में अपील दायर की गई थी। बताया गया कि 13 दिसंबर 2016 को उनकी शादी अरुणोदय सिंह के साथ भोपाल में स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत दर्ज हुई थी। अरुणोदय सिंह पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह (Ajay Singh) के बेटे हैं।

Gautam Adani की नेटवर्थ में भारी इजाफा, पीछे छूटे Bill Gates, देखिये सूची किस पोजीशन में हैं भारतीय उद्योपति

पूर्व नेताप्रतिपक्ष के बेटे Arunoday Singh की शादी टूटी, हाईकोर्ट ने दी मंजूरी.
Photo : Social Media

ली का कहना था की शादी के बाद अरुणोदय (Arunoday Singh) मुंबई के खार में रहने लगे। यहां दोनों के बीच कई बार विवाद हुआ , लेकिन यह ववाद इतने गंभीर नहीं थे कि उनका तलाक हो । 2019 में अरुणोदय ने अचानक आना जाना बंद कर दिया। 10 मई 2019 को, उसने चुपचाप भोपाल में फैमिली कोर्ट में विवाह विच्छेद का मामला दायर किया। ली ने कहा कि मामले की जानकारी होने के बाद उन्होंने मामले को मुंबई स्थानांतरित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में आवेदन किया था. फिर भी, अपीलकर्ता की अनुपस्थिति में, कुटुंब अदालत ने 18 दिसंबर 2016 को एकतरफा तलाक का आदेश दिया।

6 महीने के अंदर तलाक का फैसला

पूर्व नेताप्रतिपक्ष के बेटे Arunoday Singh की शादी टूटी, हाईकोर्ट ने दी मंजूरी.
Photo : Social Media

ली की ओर से पेश वकील आदित्य सांघी ने तर्क दिया कि एकतरफा विवाह विच्छेद आदेश अवैध था। उन्होंने 6 महीने के भीतर मामले के फैसले पर हैरानी भी जताई। जबकि अरुणोदय की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता किशोर श्रीवास्तव ने अदालत को बताया कि अरुणोदय (Arunoday Singh) के साथ नहीं रहने का उनका इरादा अपीलकर्ता ली के ईमेल से स्पष्ट रूप से सामने आया था।

ली ने मामले को सुको में स्थानांतरित करने के लिए आवेदन किया। सुको ने 14 अक्टूबर 2019 को ली और अरुणोदय को मध्यस्थता के लिए बुलाया। अरुणोदय आया, लेकिन ली गैरहाजिर रहीं । इस पर सप्रीम कोर्ट ने आवेदन खारिज कर दिया। तब फैमिली कोर्ट ने यह फैसला सुनाया। सुको के दिशा-निर्देशों में प्रस्तुत ली की क्रूरता के साक्ष्यों पर विचार करने के बाद निर्णय दिया गया।

Matka Kulfi : मटका कुल्फी सिर्फ 2 मिनट में कैसे बनाएं

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button