12 वर्षीय बच्ची ने पेश की साहस की मिशाल

भोपाल ( BHOPAL)। मध्य प्रदेश भोपाल की काव्या जायसवाल ने साहस की बड़ी मिशाल प्रस्तुत की है । 12 वर्ष की इस बिटिया ने घर मे घुसे एक ऐसे नकाबपोश चोर को मार भगाया जो उसकी हत्या करने वाला था। घर की पहली मंजिल के रास्ते घर मे दाखिल हुए चोर ने घर के सभी लोगों को उनके कमरों में लॉक कर दिया था। वह लड़की का गला दबा रहा था। काव्या और उस चोर के बीच लगभग 3 मिनट तक मुकाबला चला जिसमे 12 वर्ष की इस बेटी ने हौसला न हारते हुए खुद को हत्यारे के चंगुल से बचा लिया।

गांधी नगर पुलिस (Gandhi Nagar Police Station) के मुताबिक, गौंडीपुरा के सामने सागर बंगलो निवासी नरेंद्र जायसवाल हेल्थ मिशन में मैनेजर हैं। शुक्रवार रात नरेंद्र, उनकी पत्नी और बेटा अपने कमरे में सो रहे थे, जबकि उनकी 12 साल की बेटी काव्या अपने रूम थी। काव्या सातवीं की छात्रा है। नरेंद्र ने बताया कि रात ढ़ाई बजे बेटी के शोर मचाने पर उनकी नींद खुली, लेकिन कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। पहले लगा कि काव्या सपने में डर गई है इसलिए शोर मचा रही है। बाद में काव्या ने दरवाजा खोलकर बताया कि एक बदमाश उसका गला दबा रहा था। चोर पहली मंजिल के दरवाजे से भागा। नरेंद्र ने बाहर देखा तो टीन शेड के रास्ते से एक युवक भाग रहा था। बदमाश पहली मंजिल का दरवाजा खोलकर अंदर आया था।

घटना की कहानी काव्या की जुबानी

मैं सो रही थी। अचानक एक बदमाश मेरे ऊपर बैठ गया। उसने मेरे दोनों हाथ अपने पैरों से दबा रखे थे। वह दोनों हाथों से मेरा गला घोंट रहा था। मैंने शोर मचाने की कोशिश की, लेकिन गला दबा होने के कारण आवाज नहीं निकल रही थी। मैं घबरा गई थी। बड़ी मुश्किल से हाथ छुड़ाया और उसे कई जोरदार पंच मारे , जिससे उसकी गले की पकड़ कमजोर पड़ गई। इस बीच मैंने शोर मचाया। घबराकर बदमाश भागा। पापा के कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। मैंने दरवाजा खोला तब पापा-मम्मी बाहर निकले। तब तक वह भाग चुका था।

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button