हाशिए पर सिंधिया ! उप चुनाव जिताने की जिम्मेदारी मंत्रियों पर

कल भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बी एल संतोष ने उप चुनावो मे पार्टी के प्रत्याशियों को जिताने की जिम्मेदारी शिवराज मंत्रीमंडल के मंत्रियों पर डाल दी है बुधवार को उपचुनावो की तैयारियों को लेकर हुई बैठक मे बी एल संतोष ने साफ साफ कहा कि यदि मंत्रियों के इलाकों मे पार्टी प्रत्याशी की हार हुई तो मंत्रियों की माइनस मार्किंग होगी यद्यपि उन्होने यह स्पष्ट नही किया कि माइनस मार्किंग वाले मंत्रियों के साथ बाद मे पार्टी कैसा सुलूक करेगी

सवाल उठता है कि क्या ऐसे मंत्रियो को मंत्रीमंडल से बाहर कर दिया जायेगा या फिर उनसे मलाईदार विभाग छीन लिये जायेगे ? बहरहाल राष्ट्रीय संगठन मंत्री के इस नये फरमान से शिवराज मंत्रीमंडल के उन मंत्रियों का टेंशन बढ गया है जिन्हे खुद भी चुनाव लड़ना है

यहां यह बतलाते चलें कि शिवराज मंत्रीमंडल के उन 12 मंत्रियों को भी चुनाव लड़ना है जो कांग्रेस छोड़कर सिंधिया के साथ बीजेपी मे शामिल हुये हैं अलावा इसके तीन अन्य वे है जो अन्य कारणो से कांग्रेस छोड़कर बीजेपी मे चलेआये है और फिलहाल मंत्री जी की कुर्सी पर विराजमान है

यद्यपि ऐसा पहली बार होगा जब बीजेपी उप चुनावो मे मंत्रियों के दमखम के आधार पर चुनाव जीतने की कोशिश करेगी

उल्लेखनीय है कि 2018 मे शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व मे विधान सभा के चुनाव लड़े गये थे मगर तब बीजेपी वांछित लक्ष्य से दूर रह ग ई थी और शिवराज मंत्रीमंडल के 34 मे से बारह मंत्री भी अपना चुनाव हार गये थे ।

कौन कौन हारे थे ….
————————–

उमाशंकर गुप्ता दक्षिण-पश्चिम

शरद जैन जबलपुर उत्तर

दीपक जोशी हाटपीपल्या

अंतर सिंह आर्य सेंधवा

जयभान पवैया ग्वालियर

रुस्तम सिंह मुरैना

ललिता यादव बड़ा मलहरा

ओमप्रकाश धुर्वे शहपुरा

बालकृष्ण पाटीदार खरगोन

लाल सिंह आर्य गोहद

केदार कश्यप नारायणपुर

अर्चना चिटनीस बुरहानपुर

ऐसे मे सवाल यह उठना लाजिमी है कि जब पिछला विधान का चुनाव शिवराज जी के नेतृत्व मे लड़ा गया था और तब उनके एक दर्जन मंत्री अपना खुद का चुनाव हार गये थे तब भला ऐसे मे शिवराज मंत्रीमंडल के ऐसे नये नवेले मंत्री जिन्हे खुद भी चुनाव लड़ना है वे दूसरे को कैसे जिता पायेंगें ……

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button