लॉकडाउन में MP सरकार ने 400 संविदा कर्मियों को हटाने के दिए निर्देश

भोपाल : मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने लॉक डाउन के दौरान 400 संविदा कर्मियों को हटा दिया है इनमें से अधिकांश कर्मचारी कोरोना ड्यूटी पर काम कर रहे थे नौकरी जाने के बाद अब इन परिवारों के सामने खाने के भी लाले पड़ गए हैं कर्मचारी संगठन से जुड़े लोगों ने मुख्यमंत्री से इन कर्मचारियों को वापस रखने की मांग की है अकेले वाटर सेड मिशन से 375 कर्मचारियों को हटाया गया है

सतना, सिंगरौली, टीकमगढ़, उमरिया, शिवपुरी, श्योपुर, शहडोल, शाजापुर, सागर, राजगढ़, रायसेन, पन्ना, होशंगाबाद, आगर मालवा, अनूपपुर, अशोकनगर, बालाघाट, बुरहानपुर, छतरपुर, छिंदवाड़ा, दमोह, दतिया, देवास, डिंडोरी और हरदा के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना वाटर सेड विकास अंतर्गत 2010 और 11 में स्वीकृत परियोजनाओं के संविदा सेवकों की सेवा समाप्त करने के लिए कहा गया है, यह कर्मचारी 2010 – 11 से वाटर सेट मिशन में काम कर रहे थे इन कर्मचारियों को कार्य करते हुए 10 साल हो गए हैं इसमें उपयंत्री, ब्लॉक समन्वयक एवं अन्य जिला स्तरीय अमला शामिल है इन जिलों में कार्यरत कर्मचारियों को कलेक्टर के द्वारा कोविड-19 में लगाया गया था वाटर सेट के अलावा दूसरे सरकारी विभागों में भी संविदा कर्मचारियों को हटाया गया वाटर सेट के कर्मचारियों को मिलाकर 400 संविदा कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त की गई हैं

यह भी पढ़े :

कोरोना संदिग्ध का अंतिम सस्कार

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button