रीवा में दो और कोरोना संक्रमित मिले, डॉ सिंघल की बेटी और बहन कोरोना पॉजटिव

रीवा : रीवा में डाक्टर राजेश सिंघल के दो रिस्तेदारो की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है, आज पॉजिटिव होने की पुष्टि खुद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने की है रीवा सहर में आई इस रिपोर्ट के बाद हड़कंप मच गया है डाक्टर सिंघल के जिन रिस्तेदारो की रिपोर्ट पॉजटिव आई है उनके बारे में बताया जा रहा है की उनका सम्बन्ध सतना जिले से है हालांकि इस मामले में आज जिला प्रशासन एक महत्वपूर्ण बैठक करने जा रहा है जिसके बाद कैसे इस संक्रमण से निपटना है उसकी रणनीत बनाई जाएगी, हालांकि डाक्टर सिंघल के सभी कांटेक्ट को प्रशासन ने लगभग चिन्हित कर रहा है और अब नई चुनौती अब पॉजटिव आये लोगो के कांटेक्ट ढूढ़ना है

दिल्ली में पहले कोरोना पॉजिटिव एवं बाद में निगेटिव पाए गए रीवा के डॉ राजेश सिंहल के संपर्क में आएं दो लोगों की रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई है. सोमवार तक चिकित्सक के बेटा-बेटी समेत 34 लोगों की जांच कराई गई थी. जिसमें अभी कई लोगों की रिपोर्ट आना बांकी है.

सीएमएचओ आरएस पाण्डेय के अनुसार डॉ. सिंहल के संपर्क में आए 34 लोगों की कोरोना जांच की गई थी. जिसमें से दो की रिपोर्ट आ गई है. जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है उनमें से एक डॉ की बहन हैं जो सतना निवासी है, जबकि दूसरी बेटी हैं जो रीवा की है. फिलहाल दोनो लोग क्वारंटाईन पर हैं एवं अब ISOLATION पर भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है
.
डॉ सिंहल के संपर्क में 38 लोग आए थें, जिनमें दो उत्तरप्रदेश एवं एक सतना के निवासी हैं. जबकि बांकी 35 लोग रीवा के बताए जा रहें हैं. 35 में से 34 लोगों के सेंपल लिए जा चुके हैं, जबकि एक का सैंपल लेना अभी बांकी है. डॉ सिंहल की पत्नी में एक वीडियो जारी कर एवं कलेक्टर रीवा को पत्र लिखकर यह जानकारी दी है कि उनके पति डॉ राजेश सिंहल की रिपोर्ट निगेटिव आई है. प्रशासन उनके परिवार, रिश्तेदारों एवं संबंधियों को बेवजह परेशान न करें. लेकिन इधर मंगलवार की सुबह डॉ सिंहल के संपर्क में आए दो लोगों की पॉजिटिव रिपोर्ट ने इस मामले को पूरी तरह से उलझा दिया है.

मोहल्ले में पुलिस का कड़ा पहरा, गूंजती रही एम्बुलेंस की आवाज

शहर के वार्ड-12 में डॉ सिघंल के मोहल्ले में सैकड़ो परिवार घरों में कैद हैं. कलेक्टर के द्वारा किए गए कंटेनमेंट एरिया में पुलिस सख्ती के कारण लोगों का घरो से निकलना मुश्किल रहा. पहले दिन सर्वे की गति धीमी रही. बस्ती के लोगों ने सर्वे की टीम बढ़ाए जाने की मांग की है. कई परिवारों को आश्वयक चीजों को लिए परेशान होना पड़ा. मोहल्ले में दिनभर एम्बुलेंस की आवाज गूंजती रही. सर्वे टीम सुबह समदडि़ा होटल में एकत्रित हुई. यहां से अलग-अलग दल कंटेनमेंट एरिया में भेजे गए. मोहल्ले में पूरे दिन अफरा-तफरी जैसा माहौल रहा।

यह भी पढ़े : यहां है चमगादडो का बसेरा, मित्र या शत्रु !

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button