रास्ते में बच्चे को जन्म देकर ये माँ चली 160 किलोमीटर पैदल

सतना जिले के उचेहरा की एक महिला ने हिम्मत और संघर्ष की ऐसी मिसाल पेश की है तो संभवत इसके पहले न कभी किसी ने देखी होगी ना सुनी होगी, महिला 9 महीने के गर्भ के साथ 70 किलोमीटर पैदल चली रास्ते में ही बच्चे को जन्म दिया और फिर अपने नवजात बच्चे को गोद में उठाकर 160 किलोमीटर पैदल चलते हुए जीवन के लिए संघर्ष किया

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक सतना जिले के उचेहरा कस्बे की रहने वाली यह महिला महाराष्ट्र के नासिक से अपने घर सतना के लिए पैदल निकल पड़ी परिवार साथ था, और साथ था इसके 9 महीने का गर्भ, लेकिन रोटी और लॉक डाउन की समस्या से मजबूर यह महिला अपने पति के साथ पैदल ही निकल पड़ी नासिक से सतना के लिए, पैदल चलने वाली महिला और उसके परिवार ने 70 किलोमीटर की दूरी तय की उसी बीच इस महिला को प्रसव पीड़ा होने लगी साथियों की मदद से सड़क के किनारे इस महिला ने बच्चे को जन्म दिया और जन्म के 1 घंटे बाद ही नवजात बच्चे को गोद में उठाकर यह महिला 160 किलोमीटर पैदल चलकर मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के बॉर्डर बिजासन तक पहुंच गई

बिजासन बॉर्डर पर पुलिस की नजर इन पैदल चल रहे मुसाफिरों पर पड़ी पुलिस को शकुंतला नाम की इस महिला और उसके परिवार ने जब पैदल चलने के दौरान हुई इस कहानी को बताया तो पुलिस टीम भी अवाक रह गई बच्चे के जन्म देने के बाद 160 किलोमीटर पैदल चलने की कहानी जानकर पुलिस का हृदय भी पसीज गया बॉर्डर पर तैनात लोगों ने पैदल चल रहे इन मजदूरों खाना खिलाया नंगे पैरों को जूते दिए और घर भेजने की व्यवस्था की

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button