मंहगा हुआ नगरी निकाय चुनाव अब इतनी होगी जमात राशि BHOPAL NEWS

भोपाल 20 दिसंबर । मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा लगातार इस मामले में नए नियम और प्रोटोकॉल बना रहा है माना जा रहा है कि जनवरी में नगरीय निकाय चुनाव संपन्न करवाए जा सकते हैं वही कोरोनावायरस के चलते स्थानीय नगरीय निकाय चुनाव के बाद पंचायत चुनाव कराए जाएंगे लेकिन नगरीय निकाय चुनाव के ठीक पहले नगर निगम नगर पालिका में पार्षद पद के उम्मीदवारों को शिवराज सरकार ने बड़ा झटका दे दिया है

असल में सरकार ने नगर निगम और नगर पालिका में पार्षद पद का चुनाव लड़ना महंगा कर दिया है अब इसके लिए पार्षद पद के उम्मीदवार को अधिक जमानत राशि जमा करनी होगी इस मामले में राज्य सरकार ने राज्य निर्वाचन आयोग के परामर्श पर मध्य प्रदेश नगर पालिका निर्वाचन अधिनियम 1994 में बदलाव किया है अनुसूचित जाति जनजाति और ओबीसी के साथ महिला प्रत्याशियों को जमानत राशि कुल राशि का आधा हिस्सा देना होगा इतना ही नहीं इसके साथ नगरी निकाय चुनाव में पार्षद पद के लिए एक और नियम में बदलाव किया गया है जिसके मुताबिक एक नया प्रावधान मतपत्र को भी लेकर लागू किया गया है

MP को नया मुख्यमंत्री मिलने वाला है ! कांग्रेस ने ट्वीट कर किया दावा BHOPAL NEWS

बताते चलें की नगरी निकाय आम चुनाव में नगर पालिका में पार्षद पद पर खड़े होने वाले उम्मीदवार को ₹3000 जमानत राशि जमा करनी होती थी परंतु इस बार आम चुनाव में यह राशि बढ़ाकर ₹5000 कर दी गई है इसके साथ ही नगर निगम चुनाव में पार्षद पद हेतु जमानत राशि ₹5000 थी जिसे बढ़ाकर ₹10000 कर दिया गया है हालांकि नगर निगम परिषदों में नगर परिषद में पार्षद के चुनाव की जमानत राशि ₹1000 रखी गई है वहीं अनुसूचित जाति जनजाति ओबीसी और महिला वर्ग के उम्मीदवार को आधी राशि देनी होगी इसके अलावा नगर पालिका और नगर परिषद के अध्यक्ष पद के लिए अमानत राशि ₹15000 और ₹10000 नगर निगम चुनाव के लिए ₹20000 पार्षद पद के चुनाव में डाले गए मतों के बंडल भी अलग से बनाया जाएगा उस पर पार्षद का उल्लेख होगा बता दें कि ऐसी व्यवस्था में अध्यक्ष के मध्य मतपत्रों को लेकर भी की जा चुकी है

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button