मंत्रिमंडल विस्तार के बाद भाजपा नेता का दर्द

भोपाल :4 जनवरी   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कल 3 जनवरी को अपने बहुप्रतीक्षित मंत्रिमंडल का विस्तार कर लिया और सिंधिया समर्थक दो विधायकों तुलसीराम सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत को एक बार फिर कैबिनेट मंत्री का दायित्व सौंप दिया हालांकि मंत्रिमंडल के इस लघु विस्तार के बाद से सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह विपक्ष के निशाने पर हैं कांग्रेस ने तो उन्हें असहाय और मजबूर मुख्यमंत्री तक कह दिया है मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने शिव सरकार के मंत्रिमंडल के पुनर्गठन पर सवाल उठाते हुए कहा था कि मंत्रिमंडल का पुनर्गठन देखकर यह स्पष्ट हो गया है कि मध्य प्रदेश में एक मजबूत नहीं बल्कि आशाएं और मजे पूर्व मुख्यमंत्री कुर्सी पर बैठे हैं भाजपा की इतनी दयनीय स्थिति पहले कभी नहीं देखी ऐसा लग रहा है कि आज भाजपा कुछ जय चंदू व आर्थिक लोगों की पार्टी होकर उनके सामने गिरवी पड़ी है
सरकार के फैसले पर विपक्ष को निशाना साधना समझ में आता है लेकिन शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार पर पार्टी के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने सवाल उठाए हैं विश्नोई ने दो ट्रीट कर अपना दर्द बयां किया है उन्होंने लिखा महाकौशल अब उड़ नहीं सकती फड़फड़ा सकता है मध्य प्रदेश में सरकार का पूर्ण विस्तार हो गया है ग्वालियर चंबल भोपाल मालवा क्षेत्र का हर दूसरा भाजपा विधायक मंत्री है सागर शहडोल संभाग का हर तीसरा भाजपा विधायक मंत्री है दूसरे ट्वीट में विश्नोई ने लिखा है महाकौशल के 13 भाजपा विधायकों में से एक को तथा रीवा संभाग में 18 वर्षों विधायकों में से एक को राज मंत्री बनाने का सौभाग्य मिला है महाकौशल और विंध्या फड़फड़ा सकते हैं उड़ नहीं सकते महाकौशल और विंध्या को अब खुश रहना होगा खुशामद करते रहना होगा बधाई
वरिष्ठ भाजपा नेता का ट्वीट सामने आते ही कांग्रेस एक वह एक बार फिर शिवराज सरकार पर हमलावर हो गई पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा विधायक अजय विश्नोई के ट्वीट पर एक से लिख करते हुए कमेंट किया उसूलों पर जहां आंच आए टकराना जरूरी है जो जिंदा हो तो फिर जिंदा नजर आना जरूरी है नई उम्र की खुद मुक्ति यारों को कौन समझाए कहां से बच के चलना है कहां जाना जरूरी है………..
गौरतलब है कि यह पहला मौका नहीं जब अजय विश्नोई ने अपनी पार्टी की सरकार पर सवाल नहीं उठाए हैं कांग्रेस सरकार के गिरने के बाद से गठित हुए शिवराज मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिल पाने के बाद से ही अजय विश्नोई नाराज है और अपनी ही पार्टी और सरकार को कटघरे में खड़ा कर नाराजगी जाहिर करते रहते हैं

AAD

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button