प्रदेश में मिले 1577 नए कोरोना पॉजीटिव, इंदौर भोपाल में स्थिति विस्फोटक

Madhya Pradesh Corona Update News : भोपाल, 8 जनवरी : प्रदेश में बीते 24 घंटे में 1577 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 5044 पहुंच गई है। इंदौर और भोपाल में स्थिति विस्फोटक है। इंदौर में 618 और भोपाल में कोरोना के 347 नए मरीज मिले हैं। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने सभी जरूरी इंतजाम कर लिए जाने की बात कही है, वहीं हाईकोर्ट ने प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से जवाब मांगा है।

 इंदौर में 8 दिन में ही 2360 नए मरीज

राजधानी भोपाल में मिले 347 संक्रमितों में 28 बच्चे तथा गांधी मेडिकल कॉलेज और स्वास्थ्य विभाग के चार-चार डॉक्टर शामिल हैं। दो आईएएस अधिकारी भी पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं, दुबई से लौटी 28 साल की महिला भी संक्रमित मिली है। वह 3 जनवरी को भारत आई थी। इंदौर में बीते 15 दिनों में संक्रमण 20 गुना फैल गया है। 8 दिन में ही 2360 नए मरीज मिल चुके हैं। आशंका है कि इंदौर में अगले सात दिन में ही कोरोना संक्रमण का पीक आ सकता है और रोज पांच हजार मरीज मिल सकते हैं। तीन दिन से मरीजों का आंकड़ा 500 पार जा रहा है।

अंबानी की बेटी ईशा ने पहनी सोने की बनी हुई ड्रेस, खूबसूरती परियो जैसी, ड्रेस की कीमत उड़ा देगी होश

जिला आपदा प्रबंध समिति के सदस्य डॉ. निशांत खरे कहते हैं कि आने वाले दिनों में मरीजों की संख्या निश्चित तौर पर बढ़ेगी और यह बढ़ोतरी अप्रत्याशित होगी। ग्वालियर में 111 नए मरीज मिले हैं। इनमें जेएएच के दो डॉक्टर, मुरार थाने के टीआई, एक एमबीबीएस छात्र, सीआरपीएफ के एएसआई और एमिटी यूनिवर्सिटी से एमबीए कर रहा छात्र शामिल है। तहसीलदार शिवानी पांडेय के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। दतिया जिले में 16, शिवपुरी 10, मुरैना में 17 और श्योपुर में 4 नए मरीज मिले हैं। रतलाम में 24 पॉजिटिव मिले। जबलपुर में 96 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। छिंदवाड़ा में 15 और रीवा में 8 नए केस मिले हैं।

नीता अंबानी के पास है रॉयल चार्टर्ड प्लेन, कीमत जानकार उड़ जायेंगे होश

प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा है कि कोरोना से निपटने के लिए सभी तैयारी कर ली गई हैं। ऑक्सीजन का प्रबंध हर स्तर पर कर लिया गया है। एक महीने की दवाई प्रिक्योर कर ली हैं। कोरोना के केस बढ़ रहे हैं, लेकिन अच्छी बात यह है कि वैक्सिनेशन का असर दिख रहा है। अधिकतर केस एसिम्प्टोमैटिक हैं। वहीं, मध्यप्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर जबलपुर हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है। कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि तीसरी लहर से निपटने की क्या तैयारी है? चीफ जस्टिस रवि मलिमठ और पीके कौरव की डबल बेंच ने राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button