कोरोना में रामबाण है ये देसी दवा, रिसर्च में आये चौकाने वाले परिणाम

भोपाल 8 नवम्बर । भोपाल के पंडित खुशीलाल शर्मा आयुर्वैदिक अस्पताल और मेडिकल कॉलेज ने एक रिसर्च के बाद यह पाया है कि कोरोनावायरस संक्रमण में देसी दवा का असर बेहद शानदार है असल में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए पूरे विश्व में अभी कोई ऐसी वैक्सीन नहीं बन पाई है जिससे कोरोना को पूरी तरह से नियंत्रित किया जा सके

डॉक्टर सिर्फ मरीजों को खासी बुखार और जुकाम की दवाइयां देकर ठीक करने की कोशिश में लगे हुए हैं लेकिन यह देखा गया है कि अंग्रेजी दवाओं से ज्यादा इस वायरस को खत्म करने में देसी इलाज असरदार है भोपाल के पंडित खुशीलाल आयुर्वेदिक अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में काफी समय से गिलोय घनवटी का कोरोनावायरस पर असर को लेकर रिसर्च चल रही थी इस रिसर्च में बहुत ही पॉजिटिव रिस्पांस मिला है रिसर्च के मुताबिक गिलोय घनवटी के सेवन से कोरोनावायरस को खत्म किया जा सकता है

सीएम शिवराज का सख्त निर्देश, इन्हें जड़ से उखड़ फेके

बताया गया कि पंडित खुशीलाल अस्पताल में एडमिट कोरोनावायरस मरीजों पर पहला ट्रायल किया गया था इस ट्रायल के दौरान मरीजों को दो ग्रुप में बांटा गया पहले 15 लोग थे जिन्हें दिन में दो बार 500mg गिलोय वटी दी गई और दूसरे 15 ग्रुप के लोगों को पहले दिन 800 एमजी और बाद में 400 एमजी हाइड्रो क्लोरो क्वीन टेबलेट दी गई इसके अलावा कोई अन्य दवाई नहीं दी गई थी

दवा देने से पहले सभी की ऑक्सीजन लेवल लगभग 95 था दवा देने के 5 दिन बाद सभी 30 लोगों की rt-pcr टेस्ट करवाया गया जिसमें गिलोय घनवटी खा रहे 66 % लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई और हाइड्रोक्लोरिक क्वीन खा रहे 53% की रिपोर्ट नेगेटिव 10वे दिन फिर टेस्ट हुआ तो गिलोय घनवटी खा रहे हैं 93% लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई और बाकी 15 लोगो मे सिर्फ 66% फीसदी लोग निगेटिव आये इस मामले में बता दें कि इस रिसर्च रिपोर्ट में कॉलेज के प्रधानाचार्य और क्लीनिकल ट्रायल प्रोजेक्ट के प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर डॉ उमेश शुक्ला ने सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन आयुर्वेद रिपोर्ट भेजा है

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button