किसी कक्षा में नहीं मिलेगा जनरल प्रमोशन – शिक्षा मंत्री का ऐलान

भोपाल 10 दिसंबर । मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस संक्रमण के चलते स्कूल बंद है और बच्चे ऑनलाइन के माध्यम से घर में बैठकर पढ़ाई कर रहे हैं ऐसे में चर्चा चल रही थी कि पिछले साल की तरह इस साल भी जनरल प्रमोशन दिया जाएगा इन चर्चाओं पर विराम लगाते हुए शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा है कि प्रदेश में किसी भी कक्षा में जनरल प्रमोशन नहीं दिया जाएगा

उन्होंने यह भी कहा कि वर्तमान आर्थिक कठिनाइयों को देखते हुए माध्यमिक शिक्षा मंडल से संबंधित अशासकीय विद्यालयों को मान्यता के लिए आवेदन के समय शुल्क जमा करने की बाध्यता नहीं रहेगी वह आगामी सत्र 2020 के अंत तक जमा कर सकते हैं शिक्षा मंत्री ने सीबीएसई विद्यालयों के प्रतिनिधि के साथ मंत्रालय ने मुलाकात के दौरान यह बातें कहीं शिक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षा प्रदान करना समाज के उत्थान का एक महान सेवा कार्य है इस कोरोनावायरस काल में हम सभी को साथ मिलकर प्रदेश के बच्चों का भविष्य सवारना है उन्हें शिक्षा देने के साथ-साथ कोरोना से बचाना भी हम सभी का सामूहिक दायित्व है बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए सभी आवश्यक और महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे

एमपी 31 मार्च 2021 तक स्कूल बंद रहेंगे आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को मिलेगा जर्नल प्रमोशन

सीबीएसई से संबद्ध अशासकीय विद्यालय के प्रतिनिधियों ने शिक्षा मंत्री परमार से भेंट की चर्चा के दौरान अशासकीय विद्यालयों के प्रतिनिधियों ने मंत्री परमार से कोविड-19 वायरस संक्रमण के चलते उत्पन्न परिस्थितियों में विद्यालयों के संचालन में आने वाली समस्याओं से अवगत कराया उन्होंने बताया कि कक्षा एक से 12वी तक के बच्चों की ट्यूशन फीस पालकों के द्वारा जमा नहीं की जा रही है जिसके चलते शिक्षकों के वेतन और स्कूल संचालन समस्या आ रही है इसके साथ ही प्रतिनिधियों ने इस वर्ष का शैक्षणिक सत्र 15 मई 2021 तक बढ़ाने कक्षा आठवीं तक पहली से पांचवी तक की कक्षाएं 15 जनवरी 2021 से संचालित करने का सुझाव दिया

10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं हो सकती है अप्रैल में यह है वजह

शिक्षा मंत्री ने स्पष्ट किया है कि नौवीं से 12वीं तक की कक्षाओं के संचालन के बारे में शीघ्र विस्तृत दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे कक्षा छठवीं से आठवीं तक की कक्षाओं के बारे में निर्णय कोरोनावायरस संक्रमण की परिस्थितियों के अनुरूप में लिया जाएगा उसका शैक्षणिक सत्र बढ़ाने के संबंध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के माध्यम से केंद्रीय शिक्षा मंत्री से आग्रह किया जाएगा उन्होंने प्रतिनिधियों से बच्चों के शैक्षणिक गुणवत्ता प्रदान करने की अपील की है

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button