अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी आपातकाल, प्रेस की आजादी छीन ली गई

नयी दिल्ली, चार नवंबर (भाषा) रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि यह महाराष्ट्र में “प्रेस की स्वतंत्रता पर हमला है” और इससे “आपातकाल के दिनों” की याद आती है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गोस्वामी को 53 वर्षीय एक इंटीरियर डिजाइनर को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में बुधवार को गिरफ्तार किया गया।

जावड़ेकर ने ट्वीट किया, “महाराष्ट्र में प्रेस की स्वतंत्रता पर हमले की हम निंदा करते हैं। प्रेस के साथ पेश आने का यह तरीका नहीं है। इससे आपातकाल के दिनों की याद आती है जब प्रेस के साथ इस प्रकार का व्यवहार किया जाता था।”

अलीबाग पुलिस के एक दल ने मुंबई स्थित गोस्वामी के आवास से उन्हें गिरफ्तार किया।

गोस्वामी को पुलिस वैन में धकेले जाते हुए देखा गया और उन्होंने दावा किया कि पुलिस ने उनके साथ बदसलूकी की।

इस मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी अपना विरोध दर्ज करवाया है मुख्यमंत्री ने लिखा है कि इमरजेंसी के समय कांग्रेस ने किस प्रकार पत्रकार और पत्रकारिता को कुचला था यह किसी से छुपा नहीं है आज कांग्रेस के शह पर महाराष्ट्र सरकार ने इमरजेंसी जैसे हालात फिर बना दिए हैं महाराष्ट्र सरकार द्वारा लोकतंत्र विरोधी पत्रकारिता विरोधी इस कृत् की घोर निंदा करता हूं महाराष्ट्र सरकार के इस लोकतंत्र विरोधी कदम के पीछे पूरी तरह से कांग्रेस है कांग्रेस ने लोकतांत्रिक परंपराओं का तार तार किया है

शिवराज ने आगे लिखा है कि महाराष्ट्र में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कुचला गया है प्रेस की आजादी छीन ली गई है महाराष्ट्र में इमरजेंसी से बदतर हालात में उन्होंने लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास किया है अंततः वह स्वयं समाप्त हो गए इतना ही नहीं सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक लोगों की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं

 

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button