अब सायरन सुनकर भाग जाएंगे हाथी नहीं होगा किसानों का नुकसान

भोपाल 22 सितंबर । अगर जंगली क्षेत्र में हाथियों का झुंड से परेशान है और आपको झुंड के घुसने की सूचना झुंड के घुसने के साथ ही मिल जाए तो आप खुश हो जायेगे, जंगली क्षेत्र में रहने वाले सभी लोग कम से कम अपना घर बार और जान तो बचा ही सकते हैं अगर आप ऐसा ही सोचते हैं तो अब यह संभव हो गया है असल में संजय टाइगर रिजर्व के एक जोन में एक ऐसा ही सायरन लगाया गया है जहां पर हाथियों के झुंड के इस रेंज के भीतर घुसने के साथ ही अलार्म बज जाएगा और इसकी सूचना स्थानीय रहवासियों को चल जाएगी

असल में संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के पूरी रेंज में प्रदेश का पहला त्वरित सूचना यंत्र यहां लगाया गया है यहां पर फिलहाल प्रायोगिक तरीके से चार सेंसर लगाए जा रहे हैं संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के पूरी रेंज असल मे छत्तीसगढ़ बॉर्डर लगता है और जहां पर छत्तीसगढ़ की तरफ से कई वर्षों से हाथियों का झुंड प्रवेश करता रहा है और यहां रहने वाले स्थानीय किसानों की फसलों को बर्बाद करता रहा है इसी के चलते यहां यह तकनीक अपनाई जा रही है पूरी रेंज के चार स्थानों को चिन्हित किया गया है जहां से हाथियों के झुंड का आना-जाना बना रहता है इसमें खास तरह के सेंसर लगे होंगे जिनकी क्षमता 100 मीटर की है इसके बाद इसकी रेंज ढाई सौ मीटर मीटर बढ़ाने का भी प्रावधान है जैसे ही हाथियों का झुंड इस क्षेत्र से गुजरेगा इसमें लगाए गए सायरन की आवाज निकलने शुरू हो जाएगी और जैसे ही हाथियों का झुंड क्षेत्र से गुजर जाएगा तो हाथियों की सायरन की आवाज लगातार निकलती रहेगी इस सायरन की आवाज चिन्हित गांव तक सुनाई देगी इसके अलावा अधिकारियों की फोन की घंटियां बजने शुरू हो जाएगी

6 फीट की ऊंचाई पर लगाया जाएगा ताकि हाथियों की ऊंचाई भी इसे डिस्टर्व न कर सके मध्य प्रदेश में पहली बार इस तकनीक का प्रयोग हो रहा है अधिकारियों का कहना है कि निगरानी करने के लिए बंगाल तमिलनाडु केरल छत्तीसगढ़ में ऐसे सेंसर लगे हुए हैं इस मामले पर फाउंडेशन 7 लोगों को प्रशिक्षण देगा जो इस मामले की निगरानी करेंगे

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button