सावधान! Google ने प्ले स्टोर से Delete कर दिए ये 2,000 Apps, कहीं आप तो नहीं कर रहे इनका इस्तेमाल

गूगल(Google) ने इस साल अपने प्ले स्टोर से हजारों नकली ऐप्स(Fake Apps) को हटाने के लिए तेजी से कदम बढ़ाया है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक, गूगल(Google) ने इस साल जनवरी से अब तक भारत में 2,000 से ज्यादा लोन वाले ऐप्स को प्ले स्टोर(Play Store) से हटा दिया है।  इंटरनेट(Internet) की दुनिया धोखेबाज ऐप्स(Fraud Apps) से भरी पड़ी है। ये ऐप आपको आसान लोन से लेकर आपके पैसे को दोगुना करने जैसी आकर्षक योजनाओं तक ले जाते हैं Google अब ऐसे ऐप्स के खिलाफ एक्शन(Action) में आ गया है। कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इन ऐप्स के खिलाफ शर्तों के उल्लंघन, सूचनाओं की गलत व्याख्या और संदिग्ध ऑफ़लाइन व्यवहार के लिए कार्रवाई की गई है। Google के वरिष्ठ निदेशक और एशिया प्रशांत के ट्रस्ट और सुरक्षा प्रमुख, सैकत मित्रा ने कहा कि कंपनी उन सभी क्षेत्रों में नियमों का पालन करने के लिए प्रतिबद्ध है जहां वह काम करती है।

Photo By Google

डिजिटल प्लेटफॉर्म(Digital Platform) पर ऑनलाइन नुकसान को रोकने के लिए पर्याप्त प्रयासों के सवाल पर उन्होंने कहा कि Google की प्राथमिकता और उसका मूल मूल्य हमेशा उपयोगकर्ता सुरक्षा(User Safety) के आसपास रहा है।

आरबीआई ने हंटर चलाया 

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बुधवार को डिजिटल लोन(Digital Loan) के लिए सख्त नियम जारी किए। इसके तहत केंद्रीय बैंक ने कहा, डिजिटल ऋण(Loan) सीधे कर्जदार के बैंक खाते में जमा किया जाना चाहिए न कि किसी तीसरे पक्ष के माध्यम से।Google ने प्ले स्टोर से Delete कर दिया है जानिये कौन से ऐसे एप्स(Apps) है, अब आरबीआई ने देश भर में ऐप-आधारित डिजिटल ऋण के गंदे कारोबार(Bad Business) बंद कर दिया है। अब कंपनियों के लिए डिजिटल लोन(Digital Loan) देना मुश्किल होगा. डिजिटल लोन के क्षेत्र में रिजर्व बैंक ने कड़े नियम बनाए हैं।

Photo By Google

कैसे ट्रैप करते है ये येप्स

अक्सर देखा जाता है कि ये ऐप आपके KYC डॉक्युमेंट्स को वेरिफाई(Verify) किए बिना ही लोन दे देते हैं। इस कंपनी का नेटवर्क(Network) कोरोना के समय से काफी फैला क्योंकि यह लोगों के लिए आर्थिक संकट का समय था। यह इंस्टेंट लोन ऐप(Instant Loan App) आपसे गारंटी भी नहीं मांगता है। ऐसे में युवा(youth) आसानी से इसकी ओर आकर्षित हो जाते हैं। Google ने प्ले स्टोर से Delete कर दिया है जानिये कौन से ऐसे एप्स है, ये ऐप अपने विज्ञापन में बैंकों से आसान प्रक्रिया की गारंटी(Guarantee) देते हैं।

Photo By Google

अक्सर वे आपको मोबाइल पर कॉल करके कनेक्ट(Connect) करते हैं। Google ने प्ले स्टोर से Delete कर दिया है जानिये कौन से ऐसे एप्स है, अक्सर देखा जाता है कि लोन ऐप फेसबुक या इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया(Social Media) पर लोगों को कनेक्ट करते हैं। चूंकि लोग अपना अधिकांश समय इस पर व्यतीत करते हैं, इसलिए उन्हें ग्राहक प्राप्त करने में कोई कठिनाई नहीं होती है। साथ ही, वे मिनटों में कागज रहित ऋण(Loan) का वादा करते हैं, इसलिए लोग शर्तों को जाने बिना उनसे संपर्क करते हैं। आमतौर पर ये ऐप लोगों को कुछ इस तरह फंसाते हैं।

ये धोखाधड़ी के सामान्य तरीके हैं

वे अक्सर छोटी राशि के लिए ऋण(Loan) की पेशकश करते हैं जैसे कि मोबाइल खरीदना या 5000 से 10000 रुपये का व्यक्तिगत ऋण। एक बार अटक जाने पर वे 500% की दर से ब्याज(Interest) भी लेते हैं।

Photo By Google

कई बार तो पूरी रकम आपके खाते में जमा भी नहीं करते हैं, लेकिन 3 से 5 किश्तें अपने पास पहले ही रख लेते हैं। वे आपके संपर्कों और फ़ोटो, वीडियो भेज के आपको अपने जाल(Trap) में फ़साने की कोसिस करते है और ब्लैकमेल(Blackmail) करते हैं। Google ने प्ले स्टोर से Delete कर दिया है जानिये कौन से ऐसे एप्स है, क्रेडिट कार्ड(Credit Card) कंपनियों और CIBIL कंपनियों की इन कंपनियों ने ऐसे लोगों अपने जाल में फसाया जिनकी आर्थिक स्थिति(Financial Situation) ठीक नहीं है। वे उन जगहों से मोबाइल नंबर एकत्र(Collect) करते हैं जहां निम्न-मध्यम या मध्यम वर्ग के लोग कारखानों या स्कूलों से हैं। 

कैसे रहें सुरक्षित

अगर कोई बिना दस्तावेज(Document) के कर्ज देता है तो मान लें कि वह फर्जी(Fake) है। लोन कंपनी आपको परेशान करे तो तुरंत पुलिस से संपर्क करें, केवल बैंकों या पंजीकृत(Registerd) गैर-वित्तीय संस्थानों से उधार(Loan) लें, लोन लेने से पहले रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर जाएं और उस संस्था(Orgnisation) की विश्वसनीयता जांच लें।

सूची आरबीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध है

आपकी सुविधा(Facility) के लिए, भारतीय रिजर्व बैंक ने आरबीआई के साथ पंजीकृत ऐप्स(Registerd Apps) की एक सूची जारी की है, Google ने प्ले स्टोर से Delete कर दिया है जानिये कौन से ऐसे एप्स है, यदि आप फेसबुक पर या इंटरनेट पर कहीं भी ऋण प्रस्तावों(Loan Proposals) को देखकर ऋण के लिए आवेदन(Application) करते हैं, तो सबसे पहले भारतीय रिजर्व बैंक के साथ पंजीकृत ऋणदाताओं की सूची(List) की जांच करना सबसे अच्छा है। 

 इसे भी पढ़े-Google पर अकेले में सबसे ज्यादा क्या Search करती हैं लड़कियां? यहां देखिए लिस्ट

फेक ऐप ने किया खुदकुशी करने के लिए मजबूर

उधारकर्ता(Borrower) उधार लेते समय अपनी व्यक्तिगत जानकारी(Personal Information) जैसे टेलीफोन संपर्क पुस्तिका साझा करने के लिए सहमत(Agee) होता है, जो उसे ऐसी स्थिति में ले जाता है जहां उधारकर्ता को उसके परिचितों के सामने बदनाम किया जाता है, जो उसे यह जोखिम(Risk) भरा कदम उठाने के लिए प्रेरित करता है। गौरतलब है कि हाल के दिनों में कथित आत्महत्या(Suicide) की घटनाएं भी हुई हैं। इसे डिजिटल ट्रांजैक्शन ऐप(Digital Transaction App) की ओर से काम कर ऋण(Loan) वसूली कर रहे एजेंटों(Agents) द्वारा किए गए ग्राहकों के उत्पीड़न(Harassment) को ठहराया गया है।

Article By Sunil

 

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please off your adblocker and support us