‘हर हर शंभू’ गाने वाली Farmani Naaz को मिली ‘सर तन से जुदा’ की धमकी, सिंगर बोली- हिंदू बन जाऊंगी

‘हर हर शंभू’ गाने को लेकर कट्टरपंथियों के निशाने पर आए लोक गायक Farmani Naaz को ‘सर तन से जुदा’ की धमकियां मिल रही हैं. ट्विटर पर इस जानकारी के साथ उन्होंने सरकार से सुरक्षा की मांग की. इतना ही नहीं Farmani Naaz ने मुस्लिम होने के बावजूद शिव भजन गाने के पीछे की वजह का भी खुलासा किया और कहा कि वह जल्द ही हिंदू धर्म अपनाएंगी।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले की रहने वाली Farmani Naaz टीवी के लोकप्रिय सिंगिंग रियलिटी शो ‘इंडियन आइडल’ में एक प्रतियोगी के रूप में दिखाई दीं। यूट्यूब पर उनके चैनल के 39 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं।

Photo By Google

फ़रमानी ने नाज ने  दो ट्वीट में बयां किया दर्द

Farmani Naaz ने अपने एक ट्वीट में लिखा, “हर हर शंभू भजन गाने के लिए फतवा जारी किया गया। मुझे जिहादियों से ‘सर तन से जुदा’ की धमकियां मिल रही हैं। सरकार मुझे सुरक्षा दे।” अपने अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा, “मेरे पूर्वज पहले हिंदू थे। इसलिए मैंने ‘हर हर शंभू भजन’ गाया। जल्द ही हिंदू धर्म में शामिल होगी।”

Photo By Google

भजन को मिल चुके 32 लाख से ज्यादा व्यू

Farmani Naaz ने 24 जुलाई को अपने यूट्यूब चैनल से ‘हर हर शंभू’ गाना अपलोड किया था, जिसे अब तक 32 लाख से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं। जब उनका भजन वायरल हुआ तो देवबंद के कई मौलानाओं ने इसका विरोध किया और भजन को इस्लाम विरोधी बताया। वहीं हिंदू धर्म के अनुयायी Farmani Naaz के भजनों की तारीफ कर रहे हैं और उनका सम्मान करने की बात कर रहे हैं.

Photo By Google

ससुराल वालों से प्रताड़ित होकर मायके आईं

रिपोर्ट्स के मुताबिक, फॉर्मानी नाज के बेटे के गले में कोई बीमारी थी. इस वजह से उसके ससुराल वाले उसे न सिर्फ परेशान करते थे, बल्कि मामा के घर से पैसे लाने का भी दबाव बनाते थे। ससुराल से तंग आकर फॉर्मानी अपने चाचा के घर आ गयी और अपने बेटे के साथ वहीं रहने लगी।

Photo By Google

ऐसे लाइम लाइट में आईं फ़रमानी नाज

रिपोर्ट में फरमानी की मां फातिमा के हवाले से कहा गया है कि कुछ लोग राहुल नाम के युवक की वीडियो बनाने के लिए उसके गांव आते थे. एक दिन वह फरमानी की आवाज पर इतना मोहित हो गये कि उसने न केवल उसका गाना रिकॉर्ड किया बल्कि उसे यूट्यूब पर पोस्ट भी कर दिया। यह गीत बहुत लोकप्रिय हुआ और फॉर्मानी को अपनी आजीविका मिली। फातेमा ने कहा कि फॉर्मानी ने अपने बच्चे की परवरिश के लिए संगीत को कमाई का जरिया बनाया।

 इसे भी पढ़े-Amitabh Bachchan के नाती अगस्त्य नंदा संग डिनर पर गईं Suhana Khan, क्रॉप टॉप में दिखाई पतली कमर

कलाकार का कोई धर्म नहीं होता : फ़रमानी

मीडिया से बातचीत में फॉर्मानी ने कहा, “हम कभी नहीं गाते क्योंकि हम इस धर्म या उस धर्म के हैं। कलाकारों का कोई धर्म नहीं होता है। जब हम स्टूडियो में होते हैं, तो हम अपना धर्म भूल जाते हैं। हमारा एक ही धर्म है। धर्म वह है जो हम हैं हम कलाकार हैं। हम भजन और कव्वाली भी गाते हैं और अपने हुनर ​​को लोगों तक पहुंचाते हैं।”

Article By Sunil

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button