सपने में अगर आते हैं ये 2 जानवर, तो समझ लीजिए मिलने वाला है अपार धन

सपने में If these 2 animals come in the ,

स्वप्न शास्त्र कहता है कि सपने हमारे अतीत, वर्तमान और भविष्य की घटनाओं का संकेत देते हैं। कई बार हम सपने में पशु, पक्षी और पक्षी देखते हैं। ऐसे सपने हमारे भाग्य से जुड़े होते हैं।

ऐसा माना जाता है कि अगर हम सपने कुछ खास जानवर और पक्षी देखते हैं तो यह संकेत देता है कि हमें भविष्य में धन की प्राप्ति होगी स्वप्न में गाय देखना बहुत अच्छा होता है।

हिंदू धर्म में गाय को पवित्र माना गया है। मान्यता के अनुसार गायों में 33 करोड़ देवता निवास करते हैं। स्वप्न शास्त्र के अनुसार सपने में गाय देखना बहुत शुभ होता है। इसका मतलब है कि व्यक्ति को चारों दिशाओं में सफलता मिलने वाली है।

सपने में अगर आते हैं ये 2 जानवर, तो समझ लीजिए मिलने वाला है अपार धन

गाय को अलग-अलग तरीकों से देखने का मतलब अलग-अलग चीजें हैं। सपने में गाय को दूध देते हुए देखने से सुख-समृद्धि आती है, लेकिन गंडा गाय देखना हित के व्यवसाय में लाभ का संकेत है।

स्वप्न में हाथी देखना बहुत शुभ माना जाता है। स्वप्न शास्त्रों के अनुसार यदि आप सपने में हाथी देखते हैं तो आपको पता चलेगा कि आपको भविष्य में धन और समृद्धि की प्राप्ति होने वाली है।

लेकिन सपने देखने के तुरंत बाद इसका उपाय करना चाहिए। हाथी की मूर्ति को माता महालक्ष्मी के मंदिर में समर्पित करें स्वप्न में देखा गया उल्लू धन प्राप्ति का संकेत है।

स्वप्न अवधारणा के अनुसार यदि आप स्वप्न में उल्लू देखते हैं तो आप समझेंगे कि अगले दिन आप पर मां लक्ष्मी की कृपा बरसने वाली है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार उल्लू धन की देवी लक्ष्मी का वाहन है।

ऐसे में सपने में उल्लू का दिखना धन प्राप्ति का संकेत माना जाता है। हालांकि इस सपने को देखने के बाद मां महालक्ष्मी के मंदिर में लाल कपड़ा चढ़ाना चाहिए।

बजरंगबली की पूजा करते वक्त बस रखें इन बातों का ध्यान, हो जाएगी कृपा की बरसात

शास्त्रों में मछली को देवी लक्ष्मी के आगमन का सूचक माना गया है। स्वप्न शास्त्रों के अनुसार यदि आप सपने में मछली देखते हैं तो जल्द ही आप पर मां लक्ष्मी की कृपा बरसने वाली है।

इसी तरह यदि आप सपने में पेड़ पर चढ़ रहे हैं तो आपको अचानक कहीं से धन की प्राप्ति हो सकती है।

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button