MP : टीचर ने प्रेमी को कराया MBBS लेकिन धोखेबाज निकला डॉक्टर

धार: मध्यप्रदेश के धार में एक युवती ने अपने प्रेमी का 10 साल तक हर तरीके से ख्याल रखा एमबीबीएस और पीजी की पढ़ाई का पूरा खर्चा उठाया उसका पक्का मकान बनवाया बाइक भी दिलाई प्रेमी के डॉक्टर बनते ही लोन पर कार भी दिलाई लेकिन अपने पैरों पर खड़े होते प्रेमी डॉक्टर ने दूसरी शादी कर ली अब प्रेमिका टीचर ने अपने प्रेमी के खिलाफ दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज कराया है आरोप है कि प्रेमिका ने आरोपी की 10 साल तक की पढ़ाई पर कुल 46 लाख रुपए खर्च किए

युवती बचपन से प्यार करती थी

बता दें कि यह दोस्ती प्यार और धोखे की कहानी धार जिले के धनपुरी के एक गांव की है दोनों एक साथ स्कूल में पढ़े और पढ़ाई में अव्वल थे युवती 2009 में टीचर बन गई लड़का डॉक्टर बनना चाहता था लेकिन घर की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण गांव में टपरीनुमा मकान था एक ही समाज के होने की वजह से लड़की के घर लड़के का आना जाना था दोनों एक दूसरे को पसंद करते थे घरवाले भी राजी थे लेकिन उसने धोखा दे दिया अब पीड़िता की रिपोर्ट पर डॉक्टर आरोपी के खिलाफ पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है आरोपी डॉक्टर फरार है

धोखे की कहानी युवती की जुबानी

बताते चलें कि दिलीप पुत्र श्याम ठाकुर मेरे पड़ोस में पढ़ने के लिए रहने आया हम दोनों एक ही स्कूल में पढ़ते थे जान पहचान से आगे बढ़कर हम एक दूसरे को पसंद करने लगे दिलीप मुझसे शादी करना चाहता था उसने नौकरी लगने के बाद शादी करने की बात कही थी मैंने 2009 से शासकीय सेवा में बतौर टीचर के पद पर ज्वाइन कर लिया मैंने उसकी पढ़ाई का पूरा खर्चा उठा यहां तक कि उसका घर अपनी सैलरी से बनवाया बाइक और कार भी दिलाई डॉक्टर ने शादी की बात कहकर मेरे साथ पिछले 10 वर्षों से कई बार शारीरिक संबंध बनाए मेरे माता-पिता को भी नौकरी लगते ही शादी करने का विश्वास दिलाता था 2017 को कोर्स पूरा होने के बाद दिलीप सेंधवा के निजी करुणा अस्पताल में नौकरी करने लगा धीरे-धीरे बात करना कम कर दी और शादी करने से इनकार कर दिया

वही 21 जून 2021 को बिना बताए किसी और लड़की से शादी कर इसकी जानकारी आरोपी के मामा से मिली आरोपी ने 2010 से 2019 तक शादी का झांसा देकर दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देता रहा पीड़िता अब आरोपी को सख्त से सख्त सजा के साथ मेडिकल काउंसलिंग से प्रमाण पत्र रद्द करवाना चाहती है

पीड़िता ने मकान भी बनवाया

 पीड़िता ने बताया कि जब हम दोनों के परिजन शादी के लिए राजी थे तो मैंने अपनी नौकरी से मिलने वाले वेतन सेजामन्या स्थित गांव में दिलीप का पक्का मकान बनवाया इसके लिए मैंने लगभग 8 से 10 लाख रुपए खर्च किए एमबीबीएस और पीजी की फीस और अन्य खर्चे लगभग ₹25 लाख खर्च किए लगभग एक लाख की बाइक खरीद कर दी इसी के साथ दिलीप ने मुझसे कार की बात कही तो लगभग 10 लाख रुपए की कार मैंने लोन लेकर दिलवाई थी जिसकी किस्त आज भी मेरे खाते से कट रही है

आरोपी की तलाश जारी है

दुष्कर्म के आरोपी डॉक्टर की तलाश जारी है सेंधवा से फरार है आरोपी की गिरफ्तारी के लिए भरसक प्रयास किए जा रहे हैं शीघ्र ही आरोपी को गिरफ्तार करेंगे

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button