MP : चरित्र प्रमाण पत्र के लिए आबरू देनी पड़ी रिश्वत में

सागर: अनुसूचित जनजाति बालक छात्रावास के अधीक्षक सतीश गोलंदाज के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया शिकायतकर्ता महिला छात्रावास में रहने वाले आठवीं के छात्र की मां है हॉस्टल बदलने के लिए उसके चरित्र प्रमाण पत्र की आवश्यकता थी महिला का आरोप है कि चरित्र प्रमाण पत्र खराब करने की धमकी देकर अधीक्षक ने उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया

बता दे कि बीना थाना पुलिस ने बताया कि नजदीक के गांव का रहने वाला छात्र बीना के हॉस्टल में रहकर आठवीं की पढ़ाई कर रहा था 9वी में आने के बाद दूसरे छात्रावास में एडमिशन लेने के लिए चरित्र प्रमाण पत्र की आवश्यकता थी इसके लिए 6 जुलाई को छात्र अपनी मां के साथ बीना स्थित छात्रावास पहुंचा था यहां छात्रावास अधीक्षक सतीश गोलंदाज से मिला

यह भी पढ़ें –   युवक की पीट-पीट कर हत्या करने के मामले में प्रेमिका के पिता व साथी गिरफ्तार

चरित्र प्रमाण पत्र बिगड़ने की धमकी देकर कमरे में ले गया

बताते चलें कि पीड़िता का आरोप है कि अधीक्षक ने बेटे को केबिन से बाहर भेज दिया इसके बाद मुझसे बोला कि बेटे का अच्छे छात्रावास में एडमिशन कराना हो तो मुझसे मिल लो मेरी बात मान लो नहीं तो ऐसा चरित्र प्रमाण पत्र बनाऊंगा कि बेटे की जिंदगी बर्बाद हो जाएगी इसके बाद में मुझे कमरे में ले गया और जबरदस्ती दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया

मामला दर्ज कराने चौकी से थाने और थाने से एसपी कार्यालय जाना पड़ा

इसके बाद मैं बजरिया पुलिस चौकी शिकायत करने पहुंची तो उन्होंने बीना थाने भेज दिया बीना में महिला जांच अधिकारी नहीं होने से शिकायत लिखवाने के लिए इंतजार करना पड़ा रिपोर्ट नहीं लिखे जाने पर एसपी कार्यालय पहुंचकर शिकायत की बीना थाना प्रभारी कमल सिंह निगवाल ने बताया की शिकायत पर छात्रावास अधीक्षक सतीश गोलंदाज के खिलाफ दुष्कर्म समेत अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है मामले की जांच की जा रही आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है

यह भी पढ़ें – घरेलू विवाद में भाई ने भाई को मार डाला

 

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button