शादी का सपना दिखाकर जालसाजी करने वाले पति पत्नी गिरफ्तार, पढ़िए अनोखा क्राइम करने का तरीका

जबलपुर: अविवाहित युवकों की शादी कराने के बहाने ठगी करने वाले गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है गिरोह के चार सदस्यों को दबोचते हुए 58500 रुपए जब्त किए गए हैं दुल्हन बनकर ठगी करने वाली महिला पति समेत फरार है ठगी की वारदात को अंजाम देने के लिए अपने पति को भाई बना लेती थी शिकार मिलते ही सभी आरोपित अपना नाम बदल लेते थे फरेबी दुल्हन व उसके पति की तलाश में संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रोहित काशवानी ने पत्रकार वार्ता में घटनाक्रम का खुलासा किया उन्होंने बताया कि जालसाजो ने षड्यंत्र रचकर न केवल जबलपुर बल्कि सागर में भी अविवाहित कि फर्जी शादी कराई और बाद में नगदी व जेवर लेकर चंपत हो गए हैं पत्रकार वार्ता में सीएसपी गोहलपुर अखिलेश को टीआई लार्डगंज प्रफुल्ल श्रीवास्तव उपस्थित रहे जबलपुर में हुई जालसाजी की शिकायत ग्राम सुनवानी खुर्द पन्ना निवासी जयप्रकाश तिवारी 34 वर्ष ने पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा से की थी शादी का फर्जीवाड़ा कर एक लाख 18 हजार रुपए की ठगी की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया

दमोह से जुड़ा कनेक्शन

बता दे कि जयप्रकाश ने पुलिस को बताया कि स्वजन उसकी शिकायत की शादी के लिए कई साल से जगह-जगह रिश्ता देख रहे थे परंतु कहीं भी रिश्ता तय नहीं हो पाए रिश्तेदारों ने जानकारी दी कि घाट पिपरिया दमोह निवासी रवि दुबे विवाह संबंध बनाने में सहायता कर सकते है स्वजन ने उनसे संपर्क किया तो उसने बताया कि जबलपुर निवासी रजनी तिवारी नामक महिला रिश्ता जुड़वा सकती है उसने रजनी का मोबाइल नंबर दे दिया उसने मोबाइल पर अपनी फोटो भेजी उसकी फोटो देखने के बाद रजनी ने तीन लड़कियों की फोटो भेजी फोटो के आधार पर उसने व स्वजन ने अंजलि तिवारी नाम की युवती को पसंद किया रजनी ने उसे 8 जुलाई को कोर्ट मैरिज करने के लिए जबलपुर बुलाया

यह भी पढ़ें –  ढाबे पर बदमाशों ने की मारपीट, आरक्षक की वर्दी फाड़ी

दस्तखत करवाकर वकील बोला शादी हो गई

बताते चलें कि जयप्रकाश अपने पड़ोसी श्यामकांत पयासी चाचा रामहित तिवारी रामकिशोर तिवारी व फूफेर भाई ओमप्रकाश चनपुरिया के साथ 8 जुलाई को चार पहिया वाहन से जबलपुर पहुंचा रजनी से मोबाइल पर बात कर उन्हें गोलबाजार बुलाया जहां रजनी फरेबी दुल्हन अंजलि तिवारी व बुआ के बेटे ओमप्रकाश चनपुरिया पड़ोसी श्यामकांत पयासी व उसके चाचा रामहित तिवारी राम किशोर तिवारी व बुआ के बेटे ओमप्रकाश चनपुरिया के साथ चार पहिया वाहन से जबलपुर पहुंचे रजनी के बताएं अनुसार वे गोलबाजार पहुंचे रजनी वहां पर अंजलि तिवारी व विकास तिवारी को लेकर पहुंची उसने विकास को अंजलि का भाई बताया गोलबाजार से सभी को जिला कोर्ट के गेट नंबर 4 ले जाया गया जहां रजनी ने एक अधिवक्ता से मुलाकात कराई उसने ₹8000 कोर्ट फीस के नाम पर लिए स्टांप बिक्री की दुकान में जाकर रजिस्टर पर उनके हस्ताक्षर करवाया और बोला शादी हो गई है

एक लाख दस हजार रुपए लेकर दुल्हन भागी, पहुंच गए नकली पुलिस वाले

वही जालसाजो द्वारा बनाई गई योजना यहां तक सफल नहीं कोर्ट से सभी गोलबाजार लौटे जहां रजनी के लिए कपड़े व जेवर खरीदने के लिए एक लाख दस हजार रुपए मांगे रकम लेकर रजनी वहां से चली गई अंजली व विकास वहीं रुककर उसके लौटने का इंतजार करने लगे कुछ देर बाद दो मोटरसाइकिल पर सवार युवक के पास पहुंचे स्वयं को पुलिस वाला बताकर पन्ना से लाई गाड़ी के कागज मांगे फिर बताया कि जबलपुर से लड़की भगाकर ले जाने की सूचना मिली है धमकी देकर जयप्रकाश से ₹8500 वसूल कर चले गए कथित पुलिस जवानों ने उनके साथ मारपीट की इसी दौरान मौका पाकर अंजली व विकास भाग गए

यह भी पढ़ें – MP में फिर हैवानियत : महिला के प्राइवेट पार्ट पर ब्लेड से हमला

ऐसे पकड़ में आए आरोपी

पुलिस ने बताया कि पीड़ित ने रविवार रजनी का मोबाइल नंबर दिया साइबर सेल की सहायता से लार्डगंज पुलिस जीरो तक पहुंच गई पनागर निवासी ज्योति कुशवाहा गढ़ाफाटक निवासी आशीष तिवारी विपिन जैन गोहलपुर निवासी सुनील ठाकुर को पकड़ लिया गया पूछताछ में पता चला कि रजनी तिवारी ज्योति बन गई थी दुल्हन की भूमिका निभाने वाली अंजली और उसके कथित भाई विकास तिवारी का असली नाम सुमन जैन और भानु उर्फ विवेक जैन है जो पति-पत्नी है आरोपितों से ₹58500 जब्त किए गए भानु व सुमन समेत रवि तिवारी शादी कराने वाले वकील शुक्ला मेडिकल पावर हाउस के पास रहने वाली रेखा सोंधिया की तलाश जारी है पूछताछ में पता चला कि गिरोह ने जून में गढ़ाकोटा सागर में छीनामानी की लक्ष्मी नामक युवती की फर्जी शादी करवाते हुए धोखाधड़ी की थी आरोपित रेखा अपने साथ ज्योति कुशवाहा नामक युवती को लक्ष्मी की भाभी बनाकर ले गई थी भाभी का किरदार निभाने पर ज्योति को ₹3000 दिए गए थे

आरोपित गिरफ्तार

1 . रजनी तिवारी जिसने शादी कराने का झांसा देकर युवक को पन्ना से बुला लिया था इसका असली नाम ज्योति कुशवाहा पति रवि कुशवाह उम्र 29 वर्ष है जो निवासी ग्राम केवलारी पनागर में रहती है
2. आशीष तिवारी 51 वर्ष निवासी मोची कुआं नट बाबा मंदिर के पास गढ़ाफाटक लार्डगंज
3 . विपिन जैन 30 वर्ष निवासी गढ़ाफाटक लार्डगंज
4 . सुनील ठाकुर 32 वर्ष निवासी आमखेरा नर्मदा नगर गोहलपुर

यह भी पढ़ें – लव जिहाद : तीन साल पहले मुस्लिम युवक से की थी शादी, संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

फरार आरोपी

1. भानु उर्फ विवेक जैन 23 वर्ष निवासी नारायणपुर गुलौआ चौक में किराए का मकान
2 . नकली दुल्हन अंजलि तिवारी जिसका वास्तविक नाम सुमन जैन पति भानु उर्फ विवेक जैन निवासी नारायणपुर गुलौआ चौक में किराए का मकान पन्ना के युवक को ठगने के लिए सुमन और भानु नाम बदलकर आपस में भाई बहन बन गए थे

इनकी भूमिका रही

वही आरोपितों की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी लार्डगंज प्रफुल्ल श्रीवास्तव उपनिरीक्षक अनिल मिश्रा अभिलाष मिश्रा सहायक उप निरीक्षक केवी सिंह आरक्षक विकास मानवेंद्र सायबर सेल आरक्षक अमित दुर्गेश की भूमिका रही

डेस्क रिपोर्ट

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button