क्रेडिट कार्ड के जरिए भी होगा UPI पेमेंट, RBI ने यूजर्स को दी बड़ी राहत

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने आम आदमी पर कर्ज का बोझ बढ़ा दिया है। वहीं दूसरी तरफ बड़ी राहत भी दी गई है। RBI ने क्रेडिट कार्ड को UPI (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) से जोड़ने की घोषणा की है। इसकी शुरुआत रुपे क्रेडिट कार्ड से हुई थी। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज यूपीआई के जरिए रुपे क्रेडिट कार्ड से भुगतान को मंजूरी दे दी।

शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति समीक्षा प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह घोषणा की।

अब क्या लाभ हैं?
बता दें कि फिलहाल UPI यूजर्स सेविंग्स या करंट अकाउंट को डेबिट कार्ड के जरिए लिंक कर ट्रांजैक्शन की सुविधा देते हैं। दास ने कहा कि नई प्रणाली से ग्राहकों को यूपीआई प्लेटफॉर्म के माध्यम से भुगतान करने के अधिक अवसर और लाभ मिलने की उम्मीद है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि यूपीआई प्लेटफॉर्म के वर्तमान में 26 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ता और 50 मिलियन व्यापारी हैं। अकेले मई 2022 में UPI के जरिए 10.40 लाख करोड़ रुपये के 594.63 करोड़ लेनदेन किए गए।

RBI ने क्या कहा?
दास ने कहा कि केंद्रीय बैंक अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए पर्याप्त तरलता या नकदी की उपलब्धता सुनिश्चित करेगा। उन्होंने कहा, ‘भविष्य में महामारी के कारण जो अतिरिक्त नकदी मुहैया कराई गई है, उसे कुछ सालों में सामान्य कर दिया जाएगा। साथ ही, हालांकि, केंद्रीय बैंक यह सुनिश्चित करेगा कि अर्थव्यवस्था की उत्पादक जरूरतों के लिए पर्याप्त तरलता हो।

RBI का अहम फैसला
भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास द्वारा बुधवार को प्रस्तुत चालू वित्त वर्ष की तीसरी द्विमासिक वित्तीय समीक्षा की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

रेपो रेट 0.50 प्रतिशत बढ़कर 4.9 प्रतिशत हो गया। यह पांच हफ्तों में रेपो रेट में दूसरी बढ़ोतरी है। चालू वित्त वर्ष में महंगाई का अनुमान 5.6 फीसदी से बढ़ाकर 6.7 फीसदी कर दिया गया है. 2022-23 के लिए आर्थिक विकास का अनुमान 7.2 प्रतिशत पर बना हुआ है। क्रेडिट कार्ड को यूपीआई से जोड़ा जाएगा। सबसे पहले रुपे क्रेडिट कार्ड जोड़े जाएंगे।

इसे भी पढ़ेबदलने वाला है वीडियो कॉलिंग का अंदाज, Google ने किया बड़ा ऐलान

ग्रामीण सहकारी बैंकों को वाणिज्यिक अचल संपत्ति क्षेत्र में उधार देने की अनुमति दें। शहरी सहकारी बैंक डोर-टू-डोर बैंकिंग सेवाएं दे सकेंगे। इलेक्ट्रॉनिक रूप से नियमित ब्रेक के लिए आवश्यक सेवाओं के लिए स्व-भुगतान 5,000 रुपये से बढ़ाकर 15,000 रुपये कर दिया गया है।

इसे भी पढ़े-RBL Bank के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरों में हुआ बदलाव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button