Mukesh Ambani की समधन को मिला फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

फ्रांसीसी विदेश मंत्री ने कहा कि मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की समधन डॉ. स्वाति पीरामल न केवल एक अग्रणी एवं असाधारण महिला कारोबारी है बल्कि वह एक  ऐसी उद्यमी हैं जो समाज को भी वापस लौटाता है। डॉ. स्वाति पीरामल को फ्रांस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘नाइट ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर’ से सम्मानित किया गया है। फ्रांस की विदेश एवं यूरोपीय मामलों की मंत्री कैथरीन कोलोना ने भारत की अपनी यात्रा के दौरान उन्हें यह सम्मान दिया। दोनों देशों के संबंधों में मजबूती लाने के लिए उन्हें फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की तरफ से सम्मानित किया गया।

Photo By Google

पद्मश्री से सम्मानित

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की समधन डॉ. स्वाति पीरामल भारत की अग्रणी वैज्ञानिकों और उद्योगपतियों में से एक हैं। उनके इनोवेशन, नई दवाओं और सार्वजनिक स्वास्थ्य में योगदान ने कई लोगों के जीवन को प्रभावित किया है। उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया है। उन्होंने लीडरशिप रोल्स में महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए ढांचा और नीतियां विकसित की हैं। साथ ही वह प्रधानमंत्री भारत व्यापार सलाहकार परिषद और वैज्ञानिक सलाहकार परिषद के सदस्य के रूप में भी काम कर चुकी हैं। अभी वह हार्वर्ड ग्लोबल एडवाइजरी काउंसिल में हैं।

क्यों मिला सम्मान

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की समधन डॉ. स्वाति पीरामल समूह की वाइस चेयरपर्सन के तौर पर पीरामल अपने ग्रुप में मेडिसिन, फाइनेंशियल सर्विस, रियल एस्टेट एवं ग्लास पैकेजिंग जैसे बिजनस को देखती हैं। उन्होंने इसे अपने लिए एक बड़ा सम्मान बताते हुए कहा कि यह पीरामल ग्रुप में मेरे साथ काम करने वाले लोगों के प्रयासों का भी सम्मान है।

पीरामल ग्रुप का फ्रांस के साथ कारोबार के अलावा कला एवं संस्कृति में भी लंबा रिश्ता रहा है। फ्रांस इसके पहले डॉ. स्वाति पीरामल समूह की वाइस चेयरपर्सन के तौर पर पीरामल डॉ. पीरामल को अपने दूसरे सर्वोच्च सम्मान ‘नाइट ऑफ द ऑर्डर ऑफ मेरिट’ से भी सम्मानित कर चुका है।

Photo By Google

क्या है लीजन ऑफ ऑनर अवार्ड

लीजन ऑफ ऑनर को नेपोलियन बोनापार्ट ने 1802 में शुरू किया था। यह अवार्ड राष्ट्रीयता से परे फ्रांस की उत्कृष्ट सेवा के लिए फ्रांसीसी गणराज्य द्वारा दिया जाने वाला सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है। फ्रेंच रिपब्लिक के राष्ट्रपति ऑर्डर ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर के ग्रैंड मास्टर हैं। मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की समधन डॉ. स्वाति पीरामल को कारोबार एवं उद्योग, विज्ञान और चिकित्सा क्षेत्र में उनके योगदान के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

मुकेश अंबानी से रिश्ता

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की समधन डॉ. स्वाति पीरामल समूह की वाइस चेयरपर्सन के तौर पर पीरामल डॉ. स्वाति पीरामल देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की समधन हैं। स्वाति और अजय पीरामल के बेटे आनंद पीरामल की शादी मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की बेटी ईशा अंबानी से हुई है। यह शादी दिसंबर 2018 में हुई थी। हाल में हुई रिलायंस की एजीएम में मुकेश अंबानी ने अपनी बेटी ईशा का परिचय ग्रुप के खुदरा कारोबार की मुखिया के तौर पर कराया।

 इसे भी पढ़े- शानदार मौका! आधी से भी कम कीमत में मिल रही ₹40000 वाला Window AC, मिलेगी जबरदस्त ठंडक..

Photo By Google

एसोचेम की पहली महिला प्रेजिडेंट

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की समधन डॉ. स्वाति पीरामल ग्रुप की चैरिटी संस्था पीरामल फाउंडेशन की डायरेक्टर के तौर पर डॉ पीरामल ने ग्रामीण इलाकों में हेल्थकेयर के क्षेत्र में सराहनीय काम किया है। उन्होंने मुंबई में गोपालकृष्ण पीरामल मेमोरियल हॉस्पिटल की स्थापना की। साथ ही उन्होंने देश में कई बीमारियों के खिलाफ पब्लिक हेल्थ कैंपेन चलाने में अहम भूमिका निभाई है। वह एसोचेम की पहली महिला प्रेजिडेंट भी रह चुकी हैं।फिलहाल वह हार्वर्ड बिजनेस स्कूल एंड पब्लिक हेल्थ में डीन की एडवाइजर हैं। उनके पास हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ से मास्टर्स डिग्री और मुंबई यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस डिग्री है।

Article By Chanda

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button