snn

सरकार की तरफ से Free में लगवाएं Get solar, एक्स्ट्रा यूनिट बिजली का सरकार देगी पैसा

फ्री सोलर प्लान: फ्री Get solar लगाने के लिए आपको अपनी छत या जमीन चुननी होगी। Get solar सरकार द्वारा समर्थित है। सहायता की राशि सीधे आपके खाते में आती है। सरकार द्वारा सोलर प्लांट लगाने के अलावा आप सरकार से भी पैसा कमा सकते हैं।

बड़ा प्लांट लगाने के लिए सरकार आपको 2 से 5 हजार रुपए देती है। यह ऑन-ग्रिड पर लागू होता है। सोलर प्लांट सीधे मीटर से जुड़ा होता है और फाइल को ग्रिड से पास किया जाता है। प्लांट को मीटर से जोड़ने के बाद आप जो यूनिट लाइट सरकार को बेच रहे हैं, उसके लिए सरकार भुगतान करती है।

Get solar लगाने की क्षमता को कैसे समझें
सबसे पहले, आपको यह जानना होगा कि आप अपने सौर संयंत्र से कौन से उपकरण चलाना चाहते हैं। अगर आपको कूलर, पंखे और लाइट के साथ 1.5 टन वजन वाले 1 इन्वर्टर एयर कंडीशनर के साथ अपना घर चलाना है,

तो आपको न्यूनतम 4 kW सौर प्रणाली स्थापित करने की आवश्यकता है जो प्रति दिन कम से कम 20 यूनिट बिजली उत्पन्न कर सके। 4 kW के सोलर प्लांट में आप 2 एयर कंडीशनर और घर के अन्य सभी उपकरण जैसे पंखा, कूलर, लैपटॉप, लाइट आदि चलाते हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार, आप 4 kW का सोलर प्लांट लगाकर अपने घर की रोशनी बचा सकते हैं। इसके अलावा, यदि आप अपने सोलर प्लांट से उत्पन्न पूरी बिजली का उपयोग नहीं कर पा रहे हैं, तो आप उस बिजली को सरकार को बेचकर पैसा कमा सकते हैं।

सरकार की तरफ से Free में लगवाएं Get solar, एक्स्ट्रा यूनिट बिजली का सरकार देगी पैसा
photo by google

सौर संयंत्रों के लिए सहायक उपकरण
किसी भी Get solar के लिए सबसे आवश्यक घटक सोलर इनवर्टर, सोलर बैटरी, सोलर पैनल हैं। उसके बाद वायर फिक्सिंग, स्टैंड आदि का खर्चा आता है, जिसके लिए अतिरिक्त पैसे देने पड़ते हैं। इस प्रकार इन सभी चीजों को मिलाकर हम लागत प्राप्त कर सकते हैं।

सौर इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल ध्रुवीकरण
वर्तमान में बाजार में 5 kW के सोलर इनवर्टर उपलब्ध हैं, जिन्हें आप 4 kW का प्लांट चलाने के लिए खरीद सकते हैं। हालांकि यह कुछ महंगा है। अगर आपका बजट कम है तो आपको PWM तकनीक के साथ सोलर इन्वर्टर का इस्तेमाल करने की जरूरत है।

सौर बैटरी
सोलर बैटरी की कीमत उसके आकार पर निर्भर करती है। अगर आप 4 बैटरी इनवर्टर लेते हैं तो यह सस्ता होगा लेकिन अगर आप 6 बैटरी इनवर्टर लेते हैं तो इसकी कीमत दोगुनी होगी। मोटे तौर पर अनुमान के मुताबिक एक बैटरी की कीमत करीब 15,000 रुपये है।

सौर पेनल
वर्तमान में बाजार में तीन तरह के सोलर पैनल उपलब्ध हैं। इन तीनों को पॉलीक्रिस्टलाइन, मोनो पार्क और बाइफेशियल कहा जाता है। अगर आपका बजट कम है और जगह ज्यादा है तो पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का इस्तेमाल करना चाहिए। लेकिन अगर जगह सीमित है तो बाइफेसियल सोलर पैनल का इस्तेमाल करना चाहिए।

iPhone 15 को लेकर हुआ बड़ा खुलासा! जानकर लोग बोले- OMG! दिल लूट लिया Apple

सौर संयंत्रों के प्रकार
कोई भी Get solar तीन प्रकार का हो सकता है (1) ऑफ-ग्रिड – जो सीधे बिजली की आपूर्ति करता है, (2) हाइब्रिड – जो ऑफ-ग्रिड और ऑन-ग्रिड दोनों को जोड़ता है, (3) ऑन-ग्रिड – जो बिजली की आपूर्ति करता है और इसे बचाता है। जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

इस प्रकार, यदि आप Get solar सिस्टम बनाना चाहते हैं, तो आपकी कुल लागत इस प्रकार होगी

Coca-Cola : कभी मिलता था फ्री में , आज है 38.66 बिलियन डॉलर का ब्रांड , यह है Coca-cola की शुरूआती कहानी

कम लागत वाला सौर मंडल
सोलर इन्वर्टर = 35,000 रुपये (पीडब्लूएम)
सोलर बैटरी = रु. 60,000 (150 आह)
सोलर पैनल = रु.1,00,000 (पाली)
अतिरिक्त लागत = 35,000 रुपये (वायरिंग, स्टैंड, आदि)
कुल लागत = रु. 2,30,000

फ्री सोलर पैनल योजना के लिए आवेदन कैसे करें
इसकी जानकारी आप सरकार की आधिकारिक वेबसाइट mnre.gov.in पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं। Get solar लगाने वाली कंपनियां भी आपको इस विषय पर काफी जानकारी दे सकती हैं। आप सरकारी हेल्पलाइन नंबर 011-2436-0707 या 011-2436-0404 पर कॉल करके भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button