रसोई से एयरपोर्ट तक Gautam Adani की धमक, जानें बुलंदियों पर पहुंचने की पूरी कहानी

अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी(Gautam Adani), जिनके पास बिजली क्षेत्र में बंदरगाहों(Ports) में शक्तिशाली हिस्सेदारी है, शुक्रवार को एक बार फिर रिलायंस इंडस्ट्रीज(Reliance Industries) के मालिक मुकेश अंबानी(Mukesh Ambani) को पीछे छोड़ते हुए एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए। गौतम अडानी(Gautam Adani) एक बार फिर मुकेश अंबानी(Mukesh Ambani) को पछाड़कर दुनिया के टॉप 10 सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में शामिल हो गए हैं. अब अडानी 91.2 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ 10वें नंबर पर पहुंच गई है. वहीं मुकेश अंबानी(Mukesh Ambani) 91.0 अरब डॉलर के साथ 11वें स्थान पर आ गए। अडानी का जन्म 24 जून 1962 को अहमदाबाद, गुजरात में हुआ था। 

पिछले कुछ दिनों से अंबानी और अडानी इस रेस में पिछड़ रहे हैं. हम आपको बता दें कि आपके घर के किचन से लेकर देश के एयरपोर्ट(Airport) तक अडानी ग्रुप का दखल है। आइए जानें कि गौतम अडानी(Gautam Adani) का साम्राज्य कहां तक फैला है।

पूंजी बाजार में सात कंपनियां सूचीबद्ध
हाल ही में अडानी ग्रुप(Adani Group) की कंपनी अडानी विल्मर ने शेयर बाजार(Share Market) में लिस्टिंग कर निवेशकों को खूब पैसा कमाया है. स्टॉक एक्सचेंज(Stock Exchange) में सूचीबद्ध होने वाली अडानी समूह की यह सातवीं कंपनी है। इससे पहले अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी टोटल गैस, अडानी ट्रांसमिशन, अडानी पोर्ट्स और अडानी पावर सूचीबद्ध थे। अडानी ग्रीन और अडानी गैस के टोटल शेयर 2020 की शुरुआत से अब तक 1000 फीसदी से ज्यादा चढ़ चुके हैं। बता दें कि अडानी इंटरप्राइजेज(Adani Enterprises) के मुताबिक 1994 में पहली कंपनी के शेयर बीएसई(BSE) और एनएसई(NSE) में लिस्ट हुए थे। तब एक शेयर की कीमत 150 रुपये थी, लेकिन वह सिर्फ शुरुआत थी।

Photo By Google

मुंदरा पोर्ट
1995 में, अडानी समूह ने मुंद्रा पोर्ट(Mundra Port) का संचालन शुरू किया। अडानी का मुंद्रा पोर्ट 8,000 हेक्टेयर में फैला है, जो भारत का सबसे बड़ा निजी बंदरगाह(Private Port) है। यह अडानी ग्रुप के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद साबित हुआ।

Photo By Google

राशन व्यवसाय
जनवरी 1999 में, अडानी समूह ने कृषि व्यवसाय(Agriculture Business) समूह विल्मर के साथ हाथ मिलाकर खाद्य तेल व्यवसाय में प्रवेश किया। आज देश में सबसे ज्यादा बिकने वाला फॉर्च्यून खाद्य तेल अडानी-विल्मर कंपनी द्वारा उत्पादित किया जाता है। कंपनी आटा, चावल, दाल, चीनी भी बनाती है।

अनाज भंडारण
राशन उत्पादों के निर्माण के अलावा, 2005 में, अडानी समूह(Adani Group) ने एक और बड़ा कदम उठाया और भारतीय खाद्य निगम(Food Corporation of India) के सहयोग से देश में बड़े साइलोज का निर्माण शुरू किया। बड़ी मात्रा में अनाज को साइलोज(Silos) में रखा जाता है।

कोयले की खदान
अडानी ने 2010 में ऑस्ट्रेलिया की लिंक एनर्जी(Link Energy) से 12,147 करोड़ रुपये में एक कोयला खदान(Coal Mine) खरीदी थी। गेली बेस्ट क्वीन आइलैंड की इस खदान में 7.8 बिलियन टन खनिज भंडार है जो प्रति वर्ष 60 मिलियन टन कोयले का उत्पादन कर सकता है।

Photo By Google

रक्षा उपकरण
2015 के बाद अडानी ग्रुप ने भी सेना को रक्षा उपकरणों की आपूर्ति शुरू कर दी थी। इसके अलावा कुछ समय बाद अडानी ने नेचुरल गैस के क्षेत्र में अपने कारोबार का विस्तार किया। 2017 में, उनकी कंपनी ने सोलर पीवी पैनल बनाना शुरू किया।

एयरपोर्ट
अडानी समूह ने 2019 में हवाईअड्डा क्षेत्र में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। अडानी समूह वर्तमान में अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलुरु, जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम सहित देश में छह हवाई अड्डों के आधुनिकीकरण और प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है।

Photo By Google

अन्य व्यवसाय
आपको बता दें कि गौतम अडानी(Gautam Adani) की अगुआई वाले अडानी ग्रुप के पास मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड में 74 फीसदी हिस्सेदारी है। इसके अलावा, गौतम अडानी(Gautam Adani) समूह देश का सबसे बड़ा निजी क्षेत्र का हवाई अड्डा संचालक, बिजली उत्पादक और सिटी गैस रिटेलर है।

दुनिया के टॉप-10 अरबपतियों में शामिल
गौतम अडानी(Gautam Adani) एक बार फिर मुकेश अंबानी को पछाड़कर दुनिया के टॉप 10 सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में शामिल हो गए हैं. अब अडानी 91.2 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ 10वें नंबर पर पहुंच गई है. वहीं मुकेश अंबानी 91.0 अरब डॉलर के साथ 11वें स्थान पर आ गए। फोर्ब्स रियल टाइम बिलियनेयर्स इंडेक्स के मुताबिक गौतम अडानी(Gautam Adani) की संपत्ति में गुरुवार को 2.1 अरब डॉलर का इजाफा हुआ। इससे पहले 3 फरवरी को अडानी ने एशिया के सबसे अमीर आदमी का खिताब जीतने के लिए अंबानी को पछाड़ दिया था, लेकिन 9 फरवरी को अंबानी ने फिर उन्हें पीछे छोड़ दिया, अब गौतम अडानी(Gautam Adani) ने टॉप10 में लंबी छलांग लगा दी है.

Photo By Google

इस तरह शुरू हुआ अडानी का सफर
गौतम अडानी(Gautam Adani) का जन्म 24 जून 1962 को अहमदाबाद, गुजरात में हुआ था। एक रिपोर्ट के मुताबिक, उनका परिवार अहमदाबाद के पोल इलाके के सेठ चॉल में रहता था. गुजरात यूनिवर्सिटी से बीकॉम करने के बाद गौतम अडानी(Gautam Adani) बिजनेस के सिलसिले में मुंबई पहुंचे और यहीं से उनका सफर शुरू हुआ। उन्होंने 1978 में हीरा बाजार में हाथ आजमाया। लेकिन 1981 में उनकी किस्मत चमकने लगी जब उनके बड़े भाई ने उन्हें अपने प्लास्टिक व्यवसाय में शामिल होने के लिए अहमदाबाद आमंत्रित किया। इसके बाद 1988 में अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड का गठन हुआ, जिसने धातुओं, कृषि उत्पादों और वस्त्रों जैसे उत्पादों में कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू की।

 इसे भी पढ़े-Rahul Gandhi के जिस टी-शर्ट पर मचा है बवाल, जानिए उस ब्रांड की खासियत; जिसके ठीक-ठाक कपड़ों की शुरूआती कीमत है 40 हजार रुपये

1991 के बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा
1991 में आर्थिक सुधारों के कारण अडानी समूह का व्यवसाय दिन-ब-दिन बढ़ता गया और वे एक बहुराष्ट्रीय व्यवसाय के रूप में उभरे। 1995 गौतम अडानी(Gautam Adani) के लिए एक बड़ी सफलता साबित हुई, जब उनकी कंपनी को मुंद्रा बंदरगाह संचालित करने का ठेका मिला। गौतम अडानी(Gautam Adani) ने अपने व्यवसाय में विविधता लाना जारी रखा और 1996 में अडानी पावर लिमिटेड अस्तित्व में आया। 10 वर्षों के बाद, कंपनी ने बिजली उत्पादन व्यवसाय में प्रवेश किया। उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और घरेलू राशन से लेकर कोयला खदानों, रेलवे से लेकर हवाई अड्डों और बंदरगाहों तक बिजली आपूर्ति के कारोबार में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

Article By Sunil

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button