Gautam Adani : आप भी बन सकते हैं इनके जैसा, बस सीख लें उनकी ये 10 बातें

गौतम अडानी(Gautam Adani) पिछले कुछ महीनों में बिल गेट्स के बाद दुनिया के चौथे प्रमुख व्यक्ति बन गए हैं। भारत के सबसे अच्छे इंसान और बिजनेस मैन गौतम अडानी हमेशा सुरखियां बनाते रहते हैं। हाल ही में, निर्यातक ने बर्नार्ड अरनॉल्ट(Bernard Arnault) को पछाड़कर दुनिया के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए। लेकिन आप जानते हैं कि क्या? गौतम अडानी यू भी इतने अमीर इंसान नहीं बने। उन्होंने कड़ी मेहनत की है और सफलता हासिल करने के लिए बहुत संघर्ष किया है। वे अपने जीवन में अपने शब्दों को खो देते हैं।

Photo By Google

इस बारे में कई बार वे मीडिया इंटरव्यू में भी शामिल हो जाते हैं। अगर आप भी अमीर बनना चाहते हैं तो यहां 10 बातें याद रखनी चाहिए।

1. फैमिली के साथ खाना खाते है
गौतम अडानी(Gautam Adani) अब दिग्गज कारोबारी है वो बहुत व्यस्त रहते है। लेकिन इतनी Busy रहने के बाद भी वे अपने परिवार के साथ ही खाना खाते है।

2. लगाव जन्मभूमि से
गौतम अडानी(Gautam Adani) से एक बार पूछा गया था कि उन्होंने अहमदाबाद में अपना प्रधान कार्यालय क्यों स्थापित किया। दिन-ब-दिन आपका व्यवसाय पूरी दुनिया में फैल चुका है। गौतम अडानी का कहना है कि अहमदाबाद उनका जन्मस्थान है। जिसने उन्हें पाला पोसा और इतना बड़ा बिजनेस मैन बनने में मेरा साथ दिया है। उन्होंने कहा गुजरात मेरे परिवार जैसा है और अपने परिवार से दूर कौन जाता है।

3. बड़े सपने हमेशा देखे

गौतम अडानी(Gautam Adani) का जन्म 24 जून 1962 को अहमदाबाद, गुजरात में हुआ था।गौतम अडानी 6 भाई बहन थे। उनका परिवार अहमदाबाद के पोल इलाके की शेठ चॉल में रहता था। मगर वे हमेशा से सफल होने और कुछ बड़ा करने का सपना देखते थे।

उनका बिजनेस का सफर तब शुरू हुआ। जब अडानी गुजरात यूनिवर्सिटी से बीकॉम किए बिना ही मुंबई आ गए थे। उन्होंने शुरुवात डायमंड सॉर्टर(Diamond Sorter) के तौर पर की और कुछ ही वर्षो में खुद की डायमंड ब्रोकरेज फर्म मुंबई के झवेरी बाजार में कर दी।

Photo By Google

इसे भी पढ़े-दुनिया के तीसरे सबसे अमीर अरबपति और उनकी 10 सबसे महंगी प्रॉपर्टी

4. शुरुवात ऐसे की

1991 में, आर्थिक विकास में बदलाव का एक वर्ष, गौतम अडानी का व्यवसाय तेजी से विविध हुआ और एक बहुराष्ट्रीय निगम बन गया। गौतम अडानी(Gautam Adani) के लिए 1995 काफी सफल साल रहा। उनकी कंपनी को मुंद्रा पोर्ट की सुरक्षा के लिए ठेका मिल है।

5. हिम्मत कभी नहीं हारना

मुंबई के ताज होटल में 26 नवंबर 2008 को अडानी डिनर करने गए थे। जजब उस पर आतंकियों ने हमला कर दिया था। 160 लोगों को आतंकियों ने मार दिया था। मगर अडानी ने हिम्मत नहीं हारी और बचने में कामयाब रहे।

6. कभी पीछे नहीं हटना मेहनत से

अडानी ने हीरों के व्यापारी के रूप में अपने करियर को शुरुवात की ओर उन्होंने कॉलेज के दौरान अपनी पढ़ाई भी छोड़ दी थी। उनका हीरो का कारोबार भी अच्छा चल निकला था।

7. मुसीबत से कभी घबराना नहीं

गौतम अडानी(Gautam Adani) की वर्ष 1997 में कुछ व्यक्ति ने किडनैप कर लिया। अडानी को छोड़ने के लिए उन्होंने 11 करोड़ रु की फिरौती मांगी गई थी।

8. मदद के लिए हमेशा तैयार रहना

देश के 16 राज्यों में गौतम अडानी(Gautam Adani) का फाउंडेशन है। अडानी फाउंडेशन(Adani Foundation) इन जगहों पर 2400 से अधिक गावों के लगभग 40 लाख से अधिक आबादी को गुणवत्तापूर्ण प्राथमिक शिक्षा देता है।

Photo By Google

इसे भी पढ़े-कैसे एक कॉलेज ड्रॉपआउट लड़का बना दुनिया का तीसरा सबसे अमीर शख्स

9. कभी घमंड नहीं करना

Reliance और टाटा ग्रुप(Tata Group) के बाद भारत का तीसरा कारोबारी घराना अडानी ग्रुप है जिसका 100 अरब डॉलर का मार्केट कैप है। माइंस, पोर्ट्स, पावर प्लांट्स, एयरपोर्ट्स, डेटा सेंटर्स और डिफेंस सेक्टर(Defense Sector) तक अडानी का व्यापार फैला हुआ है।

10. आगे बढ़ने की हमेशा सोचना

पहले जब वे आर्थिक दिक्कतों का सामना करते थे। तब भी उन्होंने कभी निराशा को अपने पर हावी नहीं होने दिया।

Article By Chanda

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button