Dhirubhai Ambani पोती ईशा का चेहरा देखे बिना नहीं करते थे कोई काम, पत्नी कोकिलाबेन ने बताया था किस्सा

धीरूभाई अंबानी(Dhirubhai Ambani) इस कहावत में विश्वास करते थे कि ‘यदि आप गरीब पैदा हुए हैं, तो इसमें आपकी कोई गलती नहीं है, लेकिन अगर आप गरीब मरते हैं, तो यह आपकी गलती है।’ यह लाइन उन पर बिल्कुल सटीक बैठती है। दिवंगत भारतीय बिजनेस टाइकून धीरूभाई अंबानी (Dhirubhai Ambani) को ‘रिलायंस इंडस्ट्रीज’ के सबसे बड़े व्यापारिक साम्राज्य की स्थापना के लिए जाना जाता है, जिनकी विरासत को उनके बेटों मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी ने आगे बढ़ाया है। धीरूभाई का जन्म 28 दिसंबर 1932 को गुजरात के चोरवाड़ के छोटे से गांव में एक स्कूल शिक्षक के यहां हुआ था।

Photo By Google

धीरूभाई अंबानीDhirubhai Ambani) ने हमें विश्वास दिलाया है कि ‘कोई भी सपना ऐसा नहीं है, जिसे हासिल नहीं किया जा सकता है।’ उन्होंने अपने कारोबार की शुरुआत महज 15,000 रुपए से की थी और इसे कई अरब की इंडस्ट्री में तब्दील कर दिया था। हम सभी उनके सफल बिजनेस के बारे में तो जानते हैं, लेकिन बहुत से लोग उनकी पोती ईशा अंबानी के साथ उनके संबंधों के बारे में नहीं जानते हैं। आइए आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

पोती ईशा अंबानी के साथ धीरूभाई अंबानी की अनदेखी तस्वीर

सोशल मीडिया को स्क्रॉल करते हुए हमें पूरे अंबानी परिवार की एक खूबसूरत तस्वीर मिली। फोटो में हम धीरूभाई अंबानी(Dhirubhai Ambani) और कोकिलाबेन अंबानी को अपने बेटों, बहुओं और पोते-पोतियों के साथ पोज देते हुए देख सकते हैं। ईशा अंबानी को अपने पिता मुकेश अंबानी की बाहों में देखा जा सकता है।

इसे भी पढ़े-जानिए सोना और चांदी कितना महंगे हुए

6 जुलाई 2002 को धीरूभाई अंबानी ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। वह बहुत कम ही अपने पोते-पोतियों के साथ समय बिता सके थे, लेकिन उनकी यादों को आज भी उनकी फैमिली ने संजोकर रखा है। अंबानी फैमिली हर खास मौकों पर धीरूभाई को याद करना नहीं भूलती है।

Photo By Google

फिलहाल, ईशा अंबानी परिवार की सबसे लाड़ली बेटी हैं और वह न केवल अपने दादा की विरासत को आगे ले जा रही हैं, बल्कि वह स्वर्गीय धीरूभाई अंबानी(Dhirubhai Ambani) की तरह विनम्र भी हैं। तो ईशा और धीरूभाई अंबानी के बीच इस अटूट बंधन पर आपका क्या कहना है? हमें कमेंट करके जरूर बताएं, साथ ही हमारे लिए कोई सलाह हो तो अवश्य दें।

धीरूभाई अंबानी ने कभी भी पोती ईशा का चेहरा देखे बिना नहीं पी सुबह की चाय

मुकेश अंबानी और नीता अंबानी ने अपने जुड़वा बच्चों आकाश अंबानी व ईशा अंबानी के आगमन के साथ पैरेंटहुड को स्वीकार किया था, जिनका जन्म 23 अक्टूबर 1991 को हुआ था। धीरूभाई अंबानी(Dhirubhai Ambani) और उनकी पत्नी कोकिलाबेन अंबानी दादा-दादी बनने से नई भूमिका निभाने के लिए बहुत खुश थे। हमें याद है कि ईशा अंबानी के एक प्री-वेडिंग समारोह के दौरान उनकी दादी कोकिलाबेन अंबानी ने अपनी पोती के लिए धीरूभाई अंबानी के प्यार का एक सुंदर किस्सा साझा किया था।

दरअसल, हमें साल 2018 में हुए ईशा अंबानी और आनंद पीरामल के प्री-वेडिंग फंक्शन का एक वीडियो मिला। वीडियो उनकी शादी से पहले के एक उत्सव का है, जिसमें कोकिलाबेन अंबानी ने ईशा के बचपन का एक किस्सा सुनाया था।

Photo By Google

इसे भी पढ़े-रसोई से एयरपोर्ट तक Gautam Adani की धमक, जानें बुलंदियों पर पहुंचने की पूरी कहानी

उन्होंने गुजराती में कहा था कि धीरूभाई अंबानी(Dhirubhai Ambani) अपनी पोती का चेहरा देखे बिना अपने दिन की शुरुआत भी नहीं करते थे। उन्होंने खुलासा किया था कि वह तब तक चाय पीने से मना कर देते थे, जब तक कि वह ईशा का चेहरा नहीं देख लेते थे और सीधे उसके कमरे में चले जाते थे। ईशा के छह महीने की होने तक यही उनकी दिनचर्या थी।

Article By Chanda

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button