पेट्रोल और डीजल की झंझट खत्म! 28 सितंबर को आ रही है India की पहली फ्लेक्स फ्यूल से चलने वाली कार

भारत (India) का पहला फ्लेक्स ईंधन इंजन वाला वाहन जल्द ही पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के बारे में चिंताओं को समाप्त कर सकता है। यह टोयोटा किर्लोस्कर मोटर्स द्वारा निर्मित है और 28 सितंबर, 2022 को परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) द्वारा इसका अनावरण किया जाएगा। जानकारी के लिए बता दें कि पिछले साल जून में ही गडकरी ने देश में फ्लेक्स-फ्यूल (Flex-Fuel) वाहनों को अनिवार्य बनाने का संकेत दिया था और कहा था कि इससे किसानों को मदद मिलेगी और साथ ही भारतीय अर्थव्यवस्था को भी मजबूती मिलेगी।

Photo By Google

ACMA के संबोधन में दी गई जानकारी

ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (ACMA) के 62वें वार्षिक सत्र में अपने संबोधन में गडकरी ने कहा कि भारत (India) में 35 प्रतिशत प्रदूषण जीवाश्म ईंधन से चलने वाले वाहनों के कारण होता है। इसलिए एथेनॉल जैसे वैकल्पिक ईंधन का विकास किया जाना चाहिए जो स्वदेशी, लागत प्रभावी और प्रदूषण मुक्त हो।उन्होंने कहा, “ब्राजील, कनाडा और अमेरिका की तरह, मैं ऑटोमोबाइल (Auto Mobile) उद्योग से भारत (India) में फ्लेक्स इंजन वाली कारों को लॉन्च करने की अपील कर रहा हूं और मैं इस महीने की 28 तारीख को दिल्ली में टोयोटा (Toyota) की फ्लेक्स इंजन कार लॉन्च करने जा रहा हूं।”

Photo By Google

हाल ही में ग्रीन हाइड्रोजन वाली कार का भी हुआ उद्घाटन

जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि इसी साल मार्च में परिवहन मंत्री ने ग्रीन हाइड्रोजन (Green Hydrogen) से चलने वाली टोयोटा मिराई कार भी लॉन्च की थी। यह कार एक फ्यूल सेल इलेक्ट्रिक व्हीकल (FCEV) है जो हाइड्रोजन पर चलती है और पूरी तरह से पर्यावरण के अनुकूल है।

इसके अलावा भारत (India) सरकार ने कुछ दिन पहले तरलीकृत प्राकृतिक गैस (LNG) ले जा रहे एक ट्रक में भी विस्फोट हो गया था। इस बारे में बात करते हुए, गडकरी ने कहा, “अभी पंद्रह दिन पहले, मैंने पुणे में एक (तरलीकृत प्राकृतिक गैस) ट्रक लॉन्च (Truck Launch) किया था। आज मुझे मर्सिडीज (Mercedes) से पुणे में अपनी इलेक्ट्रिक कार लॉन्च करने का निमंत्रण मिला।”

Photo By Google

 इसे भी पढ़े- आम लोगों के लिए नहीं है ये Cars, जानिए 2022 में दुनिया की 5 सबसे लग्जरी गाड़ियां, कीमत सुन उड़ जाएंगे होश!

बड़ी योजना पर काम कर रही है सरकार

2020 में ही भारत (India) सरकार ने फ्लेक्स फ्यूल (Flex fuel) इंजन के लिए अपनी योजनाओं का खुलासा किया। योजना के अनुसार, देश ने 2022 तक 10 प्रतिशत इथेनॉल और 2030 तक 20 प्रतिशत इथेनॉल मिश्रण का लक्ष्य रखा है। हालाँकि, बाद में इसे 2025 तक गैसोलीन में 20 प्रतिशत इथेनॉल मिश्रण को लक्षित करने के लिए बदल दिया गया था।

Article By Chanda

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button