मुकेश अंबानी लेने वाले है रिटायरमेंट? कौन करेगा अब रिलायंस का नेतृत्व ?

मुकेश अंबानी रिटायरमेंट :  मार्केट कैप के मामले में भारत की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited, RIL) में जल्द ही कुछ बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं। अफवाहें हफ्तों से चल रही हैं कि रिलायंस के अध्यक्ष और एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति Mukesh Ambani अपने 8,208 अरब के साम्राज्य के लिए नया नेतृत्व खोजने में व्यस्त हैं।

मुकेश अंबानी रिटायरमेंट लेने वाले है ?

दरअसल Reliance Industries के प्रमुख Mukesh Ambani ने अपने व्यापारिक समूह में नेतृत्व परिवर्तन का जिक्र करते हुए संकेत दिया है अब वे शायद रिटायरमेंट लेना चाहते है कहा कि वह वरिष्ठ भागीदारों के साथ युवा पीढ़ी को बागडोर सौंपने की प्रक्रिया को तेज करना चाहते हैं। देश के सबसे धनी व्यक्ति अंबानी ने देश की सबसे मूल्यवान कंपनी की विरासत के बारे में पहली बार एक बयान में कहा कि “रिलायंस अब एक महत्वपूर्ण नेतृत्व परिवर्तन प्रक्रिया का हिस्सा है।”

धीरूभाई से रिलायंस समूह की बागडोर संभाली

Mukesh Ambani ने रिलायंस समूह की बागडोर अपने पिता धीरूभाई अंबानी से ली थी। अब 64 साल के Mukesh Ambani ने कहा है कि वह यह विरासत सौंपने की प्रक्रिया शुरू करेंगे। उनके दो बेटे आकाश और अनंत और एक बेटी ईशा अंबानी हैं।

उन्होंने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited, RIL) आने वाले वर्षों में दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित और शक्तिशाली कंपनियों में से एक होगी। स्वच्छ और हरित ऊर्जा क्षेत्र (Clean and green energy sector) के अलावा, खुदरा और दूरसंचार व्यवसाय (Retail and telecom business) इसमें एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा, जो अभूतपूर्व दर से बढ़ रहा है। “बड़े सपने और असंभव प्रतीत होने वाले लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए, सही लोगों को शामिल करना और सही नेतृत्व रखना महत्वपूर्ण है। रिलायंस अब एक महत्वपूर्ण नेतृत्व परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है।

यह भी पढ़ें : सरसों का तेल चमका देता है चेहरे को, डार्क स्पॉट्स भी हो जाते हैं खत्म, पढ़िए तरीका

उन्होंने कहा कि वह इस प्रक्रिया में तेजी लाना चाहते हैं। अपने भाषण में, Mukesh Ambani ने कहा, “मेरे सहित सभी वरिष्ठों को अब रिलायंस में एक अत्यधिक सक्षम, प्रतिबद्ध और प्रतिभाशाली युवा नेतृत्व का निर्माण करना चाहिए। हमें उनका मार्गदर्शन, सशक्तिकरण और प्रोत्साहन देना चाहिए। और जब वे हमसे बेहतर प्रदर्शन करते दिखें तो हमें वापस बैठकर ताली बजानी चाहिए।

सतना न्यूज डेस्क

ख़बरें पूरे विंध्य की http://satnanews.net/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button